Updated May 16th, 2024 at 12:56 IST

स्वाति मालीवाल की खामोशी के बीच सामने आए पूर्व पति, कहा- उन्हें धमकाया गया, जान को खतरा है इसलिए...

स्वाति मालीवाल से बदसलूकी और मारपीट की चर्चा चारों ओर है। राज्यसभा सांसद के पूर्व पति नवीन जयहिंद ने आप नेता संजय सिंह को गुलाम तोता तक कह डाला है!

Reported by: Kiran Rai
नवीन जयहिंद और स्वाति मालीवाल | Image:PTI/Facebook
Advertisement

लोमस झा

Swati Maliwal Case: सांसद स्वाति मालीवाल के पति ने रिपब्लिक मीडिया से बातचीत में पूरी घटना को आम आदमी पार्टी  की साजिश करार दिया। नाराज नवीन जयहिंद ने आप के बड़े नेताओं के लिए अपशब्दों का भी इस्तेमाल किया। सांसद संजय सिंह को गुलाम तोता कहा तो केजरीवाल के पीए बिभव को लेकर वायरल हुई तस्वीर पर भी खुलकर बात रखी।

Advertisement

नवीन जयहिंद ने दावा किया कि स्वाति मालीवाल खुद नहीं गई थी बल्कि उनको बुलाया गया था। यह बहुत बड़ी साजिश थी और साजिश के तहत उन्हें बुलाया गया था और संजय सिंह को यह सारा मामला मालूम था।

'महिला का चीर हरण हुआ है...वो परेशान है'

नवीन ने बदसलूकी को चीर हरण सा बताया। उन्होंने आगे कहा- यह घटना नहीं है यह साजिश है यह एक महिला का चीर हरण हुआ है वो भी मुख्यमंत्री दुर्योधन के सुशासन में यह चीर हरण हुआ है। मुझे लगता है कि स्वाति को डराया धमकाया गया है और उसके जान को भी खतरा है इस कारण वह परेशान है।

'संजय सिंह गुलाम तोता जो...'

यहीं नहीं रुके नवीन बल्कि उन्होंने संजय सिंह के लिए अमर्यादित शब्दों का प्रयोग किया। बिभव कुमार का पक्ष लेकर अपनी बात रखने का आरोप लगाया और बोले वो एक गुलाम तोता हैं जो  सिर्फ बहन बोलते हैं लेकिन उसकी इज्जत कैसे की जाए ये नहीं जानते हैं... संजय सिंह जैसे भाई मिल जाएंगे बहनों को तो उन बहनों की रक्षा काफी मुश्किल हो जाएगी।  लखनऊ उस शख्स को लेकर साथ गए जिस पर बदसलूकी का आरोप है।

'खेल दुर्योधन का...मेंटल ट्रॉमा में स्वाति'

कभी आम आदमी पार्टी के सक्रिय सदस्य रहे नवीन ने इसे खेल बताया जिसे अरविंद केजरीवाल के कहने पर ही रचा गया। उन्होंने दिल्ली के सीएम को दुर्योधन तक कहा। स्वाति की चुप्पी को लेकर किए सवाल पर बोले-  स्वाति डरने वाली नहीं है वह लड़ने वाली महिला है वह क्यों नहीं बोल पा रही है वह वही बता सकती हैं। मुझे लगता है कि स्वाति को मेंटली ट्रॉमा हो गया है वह किसी को भी हो सकता है... यह इतने घटिया लोग हैं गिरे लोग हैं... एक महिला का चीरहरण के बावजूद भी उनके मुंह में दही जम जाता है ।

'घटना के पीछे साजिश, पीए की औकात नहीं...'

इसके बाद नवीन ने बहुत बढ़ा खुलासा किया। उन्होंने दावा किया- इसकी पटकथा पहले से ही लिखी गई थी...क्योंकि उस पीए  की औकात नहीं है कि वह किसी पर हाथ उठा दे यह एक साजिश के तहत हुआ है। 2 दिन पहले संजय सिंह कह रहे थे कि हम कड़ी कार्रवाई करेंगे... यह क्या कड़ी कार्रवाई है जो उस पीए को लेकर घूम रहे हैं।  संजय सिंह लखनऊ में बैठकर महिला सुरक्षा के नाम पर प्रवचन दे रहे हैं...  स्वाति के साथ क्या हुआ है किस तरह की घटना हुई है वह वही बता सकती हैं।

बताया ‘आप’ का इतिहास और रखी पुलिस एक्शन की डिमांड

नवीन ने आप से जुड़ाव की कहानी बताई। बोले- मैं 2008 से इन लोगों को जानता हूं आप लोगों ने तो अन्ना आंदोलन के बाद इनका नाम सुना होगा इनकी सारी करतूत में जानता हूं ...स्वाति मालीवाल राज्यसभा की सदस्य हैं उनकी रक्षा गृह मंत्रालय द्वारा की जानी चाहिए और गृह मंत्री को इस पूरे मामले में दखल देनी चाहिए और जो सभापति हैं उसमें एक्शन लेना चाहिए और दिल्ली पुलिस को भी एक्शन लेना चाहिए।

'सबक सिखाना जरूरी...तो हाथ तोड़ देता'

नवीन के मुताबिक इस केस के दोषी को सबक सिखाया जाना चाहिए। बोले- स्वाति मेरी पूर्व पत्नी थी इसलिए मैं यह मुद्दा नहीं उठा रहा बल्कि मैं इसलिए उठा रहा हूं कि इस समाज में महिलाओं के प्रति जो इस तरीके से व्यवहार रखते हैं उनको सबक सिखाना बहुत जरूरी है। अगर मैं इन बातों को अपने पूर्व पत्नी से जोड़ता तो अभी तक उन हाथों को तोड़ देता जिन्होंने मेरी पूर्व पत्नी पर हाथ उठाया है। अमित शाह जी को भी इस मामले में बोलना चाहिए, प्रियंका जी कहती हैं लड़की हूं लड़ सकती हूं...कोई महिला खड़ी रहेगी साथ में तब ना वह लड़ पाएंगी... अखिलेश जी कहते हैं इससे भी दूसरे मुद्दे महत्वपूर्ण है मैं उनसे पूछना चाहता हूं क्या आपकी बहन बेटी के साथ इस तरीके से बात हो जाए तो यह मुद्दा महत्वपूर्ण नहीं है?

ये भी पढ़ें- स्‍वाती मालीवाल के सवाल पर केजरीवाल ने नहीं दिया जवाब, अखिलेश बोले- ये जरूरी नहीं...
 

Advertisement

Published May 16th, 2024 at 12:46 IST

Whatsapp logo