Advertisement

Updated June 8th, 2024 at 12:57 IST

मतदाताओं ने भारतीय लोकतंत्र के बारे में पश्चिम को गलत साबित कर दिया: भारतीय-अमेरिकी नेता

America: भारतीय-अमेरिकी नेता जसदीप सिंह जस्सी ने कहा कि भारत में हाल में संपन्न चुनावों ने न केवल देश की मजबूत चुनावी प्रक्रिया को दर्शाया बल्कि दुनिया को भारतीय लोकतंत्र के लचीलेपन और जीवंतता के बारे में भी बड़ा संदेश दिया है।

Punjab voting
लोकसभा चुनाव 2024 के लिए वोटिंग | Image:PTI
Advertisement

America: भारतीय-अमेरिकी नेता जसदीप सिंह जस्सी ने कहा कि भारत में हाल में संपन्न चुनावों ने न केवल देश की मजबूत चुनावी प्रक्रिया को दर्शाया बल्कि दुनिया को भारतीय लोकतंत्र के लचीलेपन और जीवंतता के बारे में भी बड़ा संदेश दिया है।

‘सिख फॉर अमेरिका’ के नेता जसदीप सिंह जस्सी ने 'पीटीआई' को एक साक्षात्कार में बताया कि भारत की लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं की अखंडता के संबंध में पश्चिमी मीडिया में आशंका थी लेकिन भारत के चुनाव परिणामों ने निर्णायक रूप से ऐसे संदेहों को दूर कर दिया है।

Advertisement

नरेन्द्र मोदी लगातार तीसरी बार भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ लेने जा रहे हैं।

आम चुनावों के दौरान दो हफ्ते तक पंजाब में रहे सिंह ने कहा कि पश्चिम द्वारा ऐसे आरोप लगाए जा रहे थे कि चुनाव आयोग कमजोर है और वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी है लेकिन ये आरोप बेबुनियाद साबित हुए हैं। यह चुनाव देश में चुनावों की वैधता और निष्पक्षता को रेखांकित करता है।

Advertisement

सिंह ने कहा, 'भारत के लोगों ने अपने मत के जरिए यह दिखा दिया है कि वे देश के समग्र विकास को प्राथमिकता देते हैं। भारतीय लोकतंत्र ज़्यादा परिपक्व हुआ है और हाल के चुनावों के परिणामस्वरूप यह और मजबूत हुआ है।'

पंजाब से जुड़े एक सवाल का जवाब देते हुए सिंह ने कहा कि चुनावों ने मानवाधिकारों के उल्लंघन और स्वतंत्रता पर अंकुश के आरोपों को और भी गलत साबित कर दिया है।

Advertisement

उन्होंने कहा कि खालिस्तान समर्थक कट्टरपंथी अलगाववादी अमृतपाल सिंह ने जेल से चुनाव लड़ा और जीता गया। इसके अलावा, इंदिरा गांधी की हत्या करने वाले बेअंत सिंह के बेटे ने भी चुनाव जीता है।

ये भी पढ़ेंः जिन्होंने राम भक्तों को गोलियों से भूना... बोलते-बोलते रोने लगे Ayodhya के संत, भावुक कर देगा VIDEO

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published June 8th, 2024 at 12:01 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo