Advertisement

Updated June 9th, 2024 at 20:59 IST

कनाडा के खुफिया प्रमुख ने इस वर्ष दो बार भारत का अघोषित दौरा किया

कनाडा की खुफिया एजेंसी के प्रमुखने खालिस्तानी चरमपंथी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या मामले की जानकारी भारतीय अधिकारियों को देने के लिए दो बार भारत का दौरा किया था।

Khalistani terrorist Hardeep Singh Nijjar and Canadian PM Justin Trudeau
निज्जर मामले में कनाडा के खुफिया प्रमुख ने दो बार भारत का अघोषित दौरा किया। | Image:AP
Advertisement

कनाडा की खुफिया एजेंसी के प्रमुख डेविड विग्नॉल्ट ने खालिस्तानी चरमपंथी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या से संबंधित मामले की जानकारी भारतीय अधिकारियों को देने के लिए फरवरी और मार्च में दो बार भारत का दौरा किया था। घटनाक्रम से अवगत लोगों ने यह जानकारी दी।

ऐसा माना जा रहा है कि कनाडाई सुरक्षा खुफिया सेवा (सीएसआईएस) के निदेशक विग्नॉल्ट ने हत्या के संबंध में ओटावा की जांच के दौरान सामने आई जानकारी साझा की है।

Advertisement

पिछले साल सितंबर में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो द्वारा निज्जर की हत्या में भारतीय एजेंटों की “संभावित” संलिप्तता के आरोप लगाए जाने के बाद भारत और कनाडा के बीच संबंधों में गंभीर तनाव आ गया था।

नयी दिल्ली ने ट्रूडो के आरोपों को “बेतुका” बताकर खारिज कर दिया था।

Advertisement

विग्नॉल्ट की अघोषित भारत यात्रा कनाडा द्वारा तीन भारतीय नागरिकों - करणप्रीत सिंह (28), कमलप्रीत सिंह (22) और करन बरार (22) को निज्जर की हत्या में कथित संलिप्तता के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के कुछ सप्ताह पहले हुई थी।

इसके बाद चौथे भारतीय अमनदीप सिंह को कनाडाई अधिकारियों ने गिरफ्तार किया था। भारत द्वारा आतंकवादी घोषित किए गए निज्जर की पिछले साल 18 जून को ब्रिटिश कोलंबिया के सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

Advertisement

इस हत्या की जांच रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी) द्वारा की जा रही है।

कनाडा सरकार के एक अधिकारी ने कहा, “हम पुष्टि कर सकते हैं कि सीएसआईएस के निदेशक डेविड विग्नॉल्ट ने भारत का दौरा किया, लेकिन हम बंद कमरे में हुई बैठकों की प्रकृति या विषय-वस्तु पर कोई टिप्पणी नहीं करते।”

Advertisement

उन्होंने कहा, “जैसा कि मैंने कहा, जब से कनाडा को विश्वसनीय आरोपों के बारे में पता चला है, हमने निज्जर मामले पर भारत को विभिन्न माध्यमों से सभी सूचनाएं लगातार उपलब्ध कराई हैं।”

उन्होंने कहा, “इस बात की तस्दीक प्रधानमंत्री ट्रूडो और कनाडा के लोक सुरक्षा मंत्री ने भी सार्वजनिक तौर पर की है।”

Advertisement

अधिकारी ने कहा, “शुरू से ही कनाडा की प्राथमिकता सच्चाई और जवाबदेही सुनिश्चित करना रही है। यह हमारे दोनों देशों के हित में है। इस संबंध में, कनाडा आरसीएमपी के नेतृत्व में चल रही स्वतंत्र जांच के महत्व को रेखांकित करता रहा है।”

विग्नॉल्ट की यात्रा के बारे में पूछे जाने पर भारतीय पक्ष की ओर से कोई टिप्पणी नहीं की गई।

Advertisement

उपरोक्त सूत्रों ने बताया कि विग्नॉल्ट के अलावा कुछ अन्य कनाडाई अधिकारी भी इस वर्ष निज्जर की हत्या से संबंधित मामले के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करने के लिए भारत आए थे।

भारत आधिकारिक तौर पर कहता रहा है कि उसे कनाडा से इस मामले से संबंधित कोई विशेष जानकारी नहीं मिली है।

Advertisement

नयी दिल्ली का कहना है कि मुख्य मुद्दा यह है कि कनाडा ने अपनी धरती से गतिविधियां चला रहे खालिस्तान समर्थक तत्वों को बिना किसी रोक-टोक के जगह दी है।

Advertisement

Published June 9th, 2024 at 20:59 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo