Advertisement

Updated May 14th, 2024 at 12:45 IST

पाकिस्तान में अब कब्र से शव निकाल कर होगी फांसी? रक्षा मंत्री ने की ऐसी मांग,दुनिया में हो रही चर्चा

उमर अयूब खान ने कहा, 'संविधान के विभिन्न अनुच्छेदों का हवाला देते हुए कहा कि सैन्य अधिकारियों की शपथ उन्हें राजनीति में हस्तक्षेप करने की इजाजत नहीं देती।'

khwaja-asif
पाकिस्तानी रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ | Image:ANI
Advertisement

इस्लामाबाद, 14 मई (भाषा) पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने नेशनल असेंबली में हो रही तीखी बहस के दौरान मांग की कि संविधान को निरस्त करने के लिए पूर्व सैन्य तानाशाह अयूब खान के शव को कब्र से निकाला जाए और फांसी पर लटका दिया जाए। समस्या तब शुरू हुई जब सोमवार को अयूब खान के पोते और विपक्षी नेता उमर अयूब खान ने सैन्य प्रवक्ता मेजर-जनरल अहमद शरीफ चौधरी के पिछले सप्ताह के संवाददाता सम्मेलन पर कड़ी आपत्ति जताई और इसे सेना द्वारा राजनीति में हस्तक्षेप करना करार दिया।

उमर अयूब खान ने कहा, 'संविधान के अनुसार सुरक्षा एजेंसियां राजनीति में शामिल नहीं हो सकती हैं।' उन्होंने संविधान के विभिन्न अनुच्छेदों का हवाला देते हुए कहा कि सैन्य अधिकारियों की शपथ उन्हें राजनीति में हस्तक्षेप करने की इजाजत नहीं देती। उन्होंने कहा 'सुरक्षा संस्थानों को संविधान के अनुसार, राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए। यह संवाददाता सम्मेलन नहीं होना चाहिए था।'

Advertisement

अयूब खान ने संविधान का किया उल्लंघन

उन्होंने अनुच्छेद छह का हवाला देते हुआ कहा कि संविधान को निरस्त करना दंडनीय देशद्रोह है जिसके लिए मौत की सजा तय है। उन्होंने आग्रह किया कि सभी संस्थानों को संवैधानिक सीमाओं के भीतर रहना चाहिए। रक्षा मंत्री आसिफ ने कहा कि अयूब खान संविधान का उल्लंघन करने वाले पहले व्यक्ति थे और उन्हें अनुच्छेद छह का सामना करने वाला भी पहला व्यक्ति होना चाहिए।

Advertisement

कब्र से निकालकर फांसी देने की मांग

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने पाकिस्तानी संसद में कहा, 'देश में पहला मार्शल लॉ लागू करने वाले झूठे फील्ड मार्शल अयूब खान के शरीर को भी (अनुच्छेद 6 के अनुसार) खोदकर निकाला जाना चाहिए और फांसी दी जानी चाहिए।'

Advertisement

विपक्षी सांसदों ने बयान के विरोध में किया हंगामा

आसिफ की टिप्पणी पर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सहित विभिन्न विपक्षी दलों के सांसदों ने विरोध जताया और नेशनल असेंबली में हंगामा होने लगा। स्पीकर अयाज सादिक ने शांति बनाए रखने का अनुरोध किया। अपनी मांग दोहराते हुए आसिफ ने कहा 'जो सभी समस्याओं, संविधान के उल्लंघन एवं अराजकता की जड़ है, उसके शव को खोद कर निकाला जाए और फांसी पर लटकाया जाए।'

Advertisement

यह भी पढ़ेंः  PoK में बगावत की आग, लंदन तक हिल गया...पाकिस्तान के खिलाफ भारी गुस्सा

Advertisement

Published May 14th, 2024 at 12:36 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

21 घंटे पहलेे
1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo