Advertisement

Updated April 4th, 2024 at 17:51 IST

पाकिस्तान में सेना के रोल पर घमासान, इमरान की पार्टी ने लगाया गंभीर आरोप तो जरदारी ने बताया पाक साफ

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने राजनीतिक फायदे के लिए एक राजनीतिक दल ओर से सेना पर “आधारहीन” आरोप लगाए जाने को लेकर गहरी चिंता जताई है।

Reported by: Digital Desk
Edited by: Deepak Gupta
Asif Ali Zardari
आसिफ अली जरदारी | Image:PTI
Advertisement

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने राजनीतिक फायदे के लिए एक राजनीतिक दल और उसके कुछ सदस्यों की ओर से सेना पर “आधारहीन” आरोप लगाए जाने को लेकर गहरी चिंता जताई है।

सेना प्रमुख जनरल आसिम मुनीर ने बुधवार को नए राष्ट्रपति जरदारी से मुलाकात की, तभी जरदारी ने पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी पर यह परोक्ष हमला किया।

Advertisement

मुलाकात के दौरान सेना प्रमुख ने पिछले महीने पाकिस्तान का 14वां राष्ट्रपति बनने के लिए जरदारी को बधाई दी।

राष्ट्रपति जरदारी ने जताई चिंता

Advertisement

राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से जारी आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि राष्ट्रपति जरदारी ने “संकीर्ण राजनीतिक फायदे के लिए एक खास राजनीतिक दल और उसके कुछ व्यक्तियों द्वारा सेना और उसके नेतृत्व पर निराधार आरोप लगाये जाने पर गंभीर चिंता व्यक्त की और ऐसे विघटनकारी तत्वों से सख्ती से निपटने का संकल्प लिया।”

जरदारी अप्रैल 2022 में सत्ता से बेदखल होने पर इमरान खान और उनकी पार्टी द्वारा पाकिस्तानी सेना पर लगाए गए आरोपों का जिक्र कर रहे थे।

Advertisement

पाकिस्तान के 75 वर्ष के इतिहास में आधे से अधिक समय सेना का शासन रहा है। सेना का सुरक्षा और विदेश नीति से संबंधित मामलों में खासा दखल रहा है।

इसे भी पढ़ें : गौरव वल्लभ के पार्टी छोड़ने पर प्रमोद कृष्णम का कांग्रेस पर तीखा हमला, कहा- सनातन का श्राप ले डूबेगा

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published April 4th, 2024 at 17:51 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo