Advertisement

Updated March 5th, 2024 at 08:49 IST

महिलाओं को अबॉर्शन का संवैधानिक अधिकार देने वाला पहला देश बना फ्रांस, 1975 में लीगल हुआ था गर्भपात

फ्रांस में महिलाओं को गर्भपात कराने का संवैधानिक अधिकार मिल गया है। ऐसा करने वाला फ्रांस पहला देश बन गया है।

Reported by: Kanak Kumari
France President Emmanuel Macron Abortion Constitutional Right
फ्रांस में महिलाओं को अबॉर्शन का मिला संवैधानिक अधिकार | Image:AP
Advertisement

France Legalised Abortion: फ्रांस ने महिलाओं को अबॉर्शन का संवैधानिक अधिकार दिया है। इस ऐतिहासिक फैसले के साथ ही फ्रांस गर्भपात को संवैधानिक करार देने वाला पहला देश बन गया है। 1975 में फ्रांस में गर्भपात को वैध करार दिया गया था। फ्रांस के सांसदों ने 4 फरवरी, सोमवार को अबॉर्शन को संवैधानिक अधिकार बनाने से संबंधित विधेयक को मंजूरी दी है।

विधेयक को पास करने के पक्ष में 780 वोट गए, जबकि 72 वोट इसके विरोध में थे। मैक्रों सरकार के इस कदम की देशभर में सराहना की जा रही है। खासतौर पर महिलाओं में इसे लेकर काफी खुशी देखी जा रही है। फ्रांस के संविधान में 25वां संशोधन करते हुए महिलाओं को ये अधिकार दिया गया। विधेयक को सदन में पेश करने से पहले एक सर्वे भी कराया गया था। सर्वे में करीब 85 फीसदी लोगों ने इसका समर्थन किया था।

Advertisement

आपका शरीर आपका है- फ्रांस पीएम

फ्रांस के संविधान में जो 25वां संशोधन किया गया है, उसके अनुसार फ्रांस में गर्भपात की “गारंटीकृत स्वतंत्रता” है। फ्रांस के पीएम ग्रेबियल अटल ने विधेयक के लिए वोटिंग से पहले कहा कि 'सांसदों पर उन महिलाओं के प्रति नैतिक ऋण है, जिन्हें अतीत में अवैध गर्भपात सहने के लिए मजबूर किया गया। हम सभी महिलाओं को एक संदेश भेज रहे हैं कि आपका शरीर सिर्फ आपका है, कोई भी आपके बदले इसका फैसला नहीं ले सकता है।'

Advertisement

अबॉर्शन को संवैधानिक करार देने का जश्न मनाएगी फ्रांस सरकार

इस विधेयक को लेकर फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुअल मैक्रों ने कहा, "सरकार शुक्रवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला अधिकार दिवस पर संशोधन के पारित होने का जश्न मनाने के लिए एक औपचारिक समारोह आयोजित करेगी।"

Advertisement

अमेरिका में अबॉर्शन बड़ा राजनीतिक मुद्दा

एक तरफ जहां फ्रांस में महिलाओं को अबॉर्शन का संवैधानिक अधिकार देते हुए ऐतिहासिक कदम उठाया है, वहीं अमेरिका की राजनीति में गर्भपात आज भी एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है। अमेरिका में सुप्रीम कोर्ट ने 2022 में गर्भपात को अवैध करने का फैसला दिया था। 50 साल पुराने फैसले को पलटते हुए जून 2022 को अमेरिका की सर्वोच्च अदालत ने गर्भपात का संवैधानिक अधिकार खत्म कर दिया था। 

Advertisement

 

इसे भी पढ़ें: Rajasthan: अचानक एक छोटे से सैलून पहुंचे CM भजनलाल, सब रह गए हक्के-बक्के; जानिए फिर हुआ क्या?

Advertisement

Published March 5th, 2024 at 07:52 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo