Updated May 16th, 2024 at 21:17 IST

Football: सुनील छेत्री ने फुटबॉल को कहा अलविदा, मुख्य कोच स्टिमक ने बताया महान खिलाड़ी

छेत्री खेलते हुए ही महान खिलाड़ी बन गया : स्टिमक

Sunil Chhetri | Image:AP
Advertisement

Football: भारतीय फुटबॉल टीम के मुख्य कोच इगोर स्टिमक ने कहा कि केवल कुछेक फुटबॉलर ही खेलने के दिनों में महान खिलाड़ी बनते हैं और छह जून को संन्यास लेने वाले करिश्माई कप्तान सुनील छेत्री इनमें से एक हैं।

छेत्री ने कुवैत के खिलाफ छह जून को फीफा विश्व कप क्वालीफाइंग मैच के बाद अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कहने का फैसला लिया है। स्टिमक ने एआईएफएफ डॉट कॉम से कहा, ‘‘वह बेहतर तरीके से जानता है कि वह कैसा महसूस कर रहा है और ऐसा करने का उचित समय कब है। मैं सिर्फ यही चाहता हूं कि उसके लिए और सभी भारतीय फुटबॉल प्रशंसकों के लिए छह जून को बहुत यादगार बनाने के लिए हम सबकुछ करें। ’’

Advertisement

उन्होंने कहा, ‘‘वह खेलने के दौरान ही महान खिलाड़ी बन गया और ऐसा कुछेक खिलाड़ी ही कर सकते हैं। वह हर किसी के लिए प्रेरणास्रोत है, पूरी तरह से भारतीय जर्सी के लिए प्रतिबद्ध है और युवा खिलाड़ियों को इसी का अनुकरण करने की जरूरत है। देश के लिए जुनून और शिद्दत से खेलना और जैसा कि उसने कहा, ‘पूरे आनंद’ से खेलना। ’’ भारतीय शिविर का माहौल बहुत गमगीन था जब टीम बृहस्पतिवार को सुबह अपने सत्र के लिए कलिंगा स्टेडियम की जिम में मौजूद थी। आधा घंटा पहले ही 39 वर्षीय छेत्री ने अपने संन्यास की घोषणा करते हुए 10 मिनट का वीडियो पोस्ट किया था। स्टिमक उनके करीब खड़े थे और बाकी खिलाड़ी भी साथ थे।

यह भी पढ़ें- सुनील छेत्री को फुटबॉल में नहीं थी दिलचस्पी फिर ऐसे बने बड़े खिलाड़ी, ऐसा रहा सफर - Republic Bharat

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published May 16th, 2024 at 21:17 IST

Whatsapp logo