Advertisement

Updated June 10th, 2024 at 23:17 IST

IOA, WFI ओलंपिक जाने वाले पहलवानों को पूरा सहयोग देगा, विनेश का अनुरोध स्वीकार

भारतीय ओलंपिक संघ और भारतीय कुश्ती महासंघ आगामी पेरिस ओलंपिक में जाने वाले पहवानों को पूरा सहयोग देगा।

Vinesh Phogat
विनेश फोगाट | Image:instagram
Advertisement

Paris Olympics 2024: भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) ओलंपिक जाने वाले देश के 6 पहलवानों को पूर्ण सहायता प्रदान करेगा और नेशनल ओलंपिक समिति और WFI (भारतीय कुश्ती महासंघ) ने शीर्ष पहलवान विनेश फोगाट की ट्रेनिंग के लिए और अधिक मदद के अनुरोध को भी स्वीकार कर लिया है।

छह भारतीय पहलवानों में महिला वर्ग में विनेश फोगाट (50 किग्रा), अंतिम पंघाल (53 किग्रा), अंशु मलिक (57 किग्रा), निशा दहिया (68 किग्रा) और रीतिका हुड्डा (76 किग्रा) तथा पुरुष वर्ग में अमन सहरावत (57 किग्रा) ने पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालाीफाई किया है।

Advertisement

IOA अध्यक्ष ने जारी किया बयान

IOA अध्यक्ष पीटी ऊषा ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा कि इस कदम का उद्देश्य पहलवानों के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा- 

Advertisement

हमारा लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि हमारे पहलवानों को सर्वश्रेष्ठ संसाधन की मदद मिले जिससे वे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकें। यह फैसला हमारी ऐसे माहौल को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता के अनुरूप है जिसमें खिलाड़ी आगे बढ़ सकें। 

IOA और WFI पहलवानों के लिए ओलंपिक तक एक ऐसी सहयोगी टीम बनाने की योजना बना रहे हैं जिसमें कोच, फिजियोथेरेपिस्ट, पोषण विशेषज्ञ, मेंटल कंडिशनिंग कोच और अन्य जरूरी स्टाफ शामिल हों। WFI अध्यक्ष संजय सिंह ने कहा कि एशियाई खेलों की गोल्ड मेडलिस्ट विजेता विनेश को पेरिस ओलंपिक की ट्रेनिंग के लिए और सहयोगी स्टाफ मुहैया कराया जाएगा। उन्होंने कहा- 

Advertisement

हम सुनिश्चित करेंगे कि विनेश और हमारे अन्य सभी पहलवानों को अच्छा प्रदर्शन करने और भारत का तिरंगा ऊंचा रखने के लिए जरूरी सहयोगी स्टाफ मिले। 

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में खेल मंत्रालय की मिशन ओलंपिक इकाई (MOC) ने विनेश सहित पेरिस ओलंपिक जाने वाले खिलाड़ियों के कई प्रस्तावों को मंजूरी दी थी। विनेश ने मैड्रिड में टूर्नामेंट और ट्रेनिंग शिविर के लिए और इसके बाद फ्रांस में ट्रेनिंग शिविर के वित्तीय मदद मांगी थी। वो जुलाई में स्पेन में ग्रां प्री में हिस्सा लेंगी और फिर ओलंपिक खेलों से पहले 20 दिन की ट्रेनिंग के लिए फ्रांस जाएंगी। ये सहयोग भारतीय पहलवानों को एमओसी की ‘टारगेट ओलंपिक पोडियम योजना’ (TOPS) के अंतर्गत मिलने वाली मदद से अलग है।

Advertisement

ये भी पढ़ें- IND vs PAK: बुमराह-पंत की जमकर हो रही तारीफ, लेकिन पाकिस्तान की वॉट लगाने में ये खिलाड़ी भी रहा आगे

Advertisement

Published June 10th, 2024 at 23:16 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo