Advertisement

Updated April 2nd, 2024 at 19:53 IST

'…तो वर्ल्ड कप नहीं जीत पाता इंग्लैंड', ICC के पूर्व अंपायर ने 5 साल बाद मान ली ये बड़ी गलती

2019 वर्ल्ड कप के फाइनल में ऑनफील्ड अंपायर माराइस इरासमस से बहुत बड़ी गलती हुई थी। अगर ये न होता तो शायद इंग्लैंड वर्ल्ड कप न जीत पाता।

Reported by: Digital Desk
Edited by: DINESH BEDI
Erasmus admits making big mistake in 2019 World Cup final
पूर्व ICC अंपायर इरासमस ने 2019 वर्ल्ड कप फाइनल में बड़ी गलती करने की बात स्वीकारी | Image:AP/X
Advertisement

World Cup 2019 Final: इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) के अंपायरों के एलीट पैनल से हाल में संन्यास लेने वाले माराइस इरासमस ने 2019 वनडे वर्ल्ड कप फाइनल में बड़ी गलती करने की बात स्वीकार की है। दरअसल इंग्लैंड ने लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर विवादास्पद अंदाज में फाइनल जीता था, लेकिन मैच में अंपायरिंग कर रहे माराइस इरासमस ने एक बड़ा खुलासा किया है। अगर ऐसा हो जाता तो इंग्लैंड वर्ल्ड चैंपियन नहीं बन पाता। 

अंपायर इरासमस ने मानी गलती

Advertisement

सुपर ओवर के बाद भी मुकाबला टाई रहने के बाद इंग्लैंड ने बाउंड्री काउंट नियम के आधार पर न्यूजीलैंड को हराकर अपना पहला वनडे वर्ल्ड कप खिताब जीता था, जिस नियम को अब रद्द कर दिया गया है, हालांकि अगर ऑनफील्ड अंपायर इरासमस और कुमार धर्मसेना इंग्लैंड को 50वें ओवर में ओवरथ्रो के लिए 6 रन नहीं देते तो खेल निर्धारित समय में समाप्त हो सकता था। उस समय मेजबान टीम को 3 गेंदों पर 9 रन चाहिए थे। बाद में ये महसूस किया गया कि इंग्लैंड को सिर्फ 5 रन दिए जाने चाहिए थे, क्योंकि ओवर थ्रो होने तक बल्लेबाजों ने दूसरा रन लेते हुए एक दूसरे को पार नहीं किया था।

इरासमस ने एक इंग्लिश अखबार से बातचीत में कहा- 

Advertisement

फाइनल के बाद अगली सुबह मैंने नाश्ता करने के लिए जाते हुए अपने होटल के कमरे का दरवाजा खोला और कुमार ने भी उसी समय अपना दरवाजा खोला और उन्होंने कहा, ‘क्या आपने देखा कि हमने एक बड़ी गलती की है?’ तभी मुझे इसके बारे में पता चला, लेकिन मैदान पर उस पल में, जैसा कि आप जानते हैं, हमने एक-दूसरे से सिर्फ इतना कहा, ‘6, 6, ये छह रन हैं।’ बिना ये महसूस किए कि उन्होंने एक दूसरे को पार नहीं किया है।

बता दें कि इरासमस ने 127 टेस्ट, 192 वनडे और 61 T20 में ऑनफील्ड अंपायर की भूमिका निभाई है। इस 60 वर्षीय अंपायर ने 5 साल पहले खेले गए 2019 वर्ल्ड कप फाइनल में एक और गलती स्वीकार की, जब उन्होंने मार्क वुड की गेंद पर रोस टेलर को LBW आउट करार दिया था।

Advertisement

टेलर को आउट देने पर क्या बोले?

साउथ अफ्रीका के इस पूर्व इंटरनेशनल अंपायर ने कहा-

Advertisement

गेंद काफी ऊपर लगी थी, लेकिन वो अपने रिव्यू खत्म कर चुके थे। पूरे सात हफ्तों में ये मेरी एकमात्र गलती थी और उसके बाद मैं बहुत निराश हुआ, क्योंकि अगर मैंने पूरे वर्ल्ड कप में कोई गलती नहीं की होती तो ये शानदार होता। इससे जाहिर तौर पर खेल पर थोड़ा असर पड़ा, क्योंकि वो उनके शीर्ष खिलाड़ियों में से एक था।

अपने लंबे अंपायरिंग करियर के दौरान न्यूजीलैंड ने इरासमस पर सबसे कम दबाव डाला, जबकि रिकी पोंटिंग और महेला जयवर्धने जैसे खिलाड़ियों ने उन्हें और उनके सहयोगियों को डराने की कोशिश की थी। ये खुद इरासमस ने कहा है। उनके मुताबिक न्यूजीलैंड के खिलाड़ी हमेशा बहुत सम्मानजनक होते थे, जबकि जबकि पोंटिंग और जयवर्धने हमें डराने की कोशिश करते थे।

Advertisement

ये भी पढ़ें- धोनी का वो छक्का, जिसके बाद देश की सड़कों पर आ गया था जनसैलाब...भारत के वर्ल्ड चैंपियन बनने की कहानी

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published April 2nd, 2024 at 19:53 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo