Advertisement

Updated May 15th, 2024 at 20:35 IST

T20 World Cup से पहले साउथ अफ्रीका क्रिकेट में बवाल, रंगभेद को लेकर फंसा बोर्ड; जानें पूरा मामला

अमेरिका और वेस्टइंडीज की मेजबानी में T20 वर्ल्ड कप के आगाज में कुछ ही दिन बचे हैं, लेकिन इससे पहले साउथ अफ्रीका क्रिकेट में रंगभेद को लेकर बवाल मच गया है।

South Africa cricket team
रंगभेद को लेकर साउथ अफ्रीका क्रिकेट में बवाल | Image:AP-File
Advertisement

T20 World Cup 2024: क्रिकेट के सबसे बड़े इवेंट T20 वर्ल्ड कप के आगाज में अब बस कुछ ही दिन बचे हैं। इसको लेकर सभी टीमों की तैयारियां तेज हैं, लेकिन इस मेगा टूर्नामेंट से पहले साउथ अफ्रीका क्रिकेट में बवाल मच गया है। दरअसल साउथ अफ्राका क्रिकेट बोर्ड रंगभेद के आरोपों में फंस गया है। 

दरअसल T20 वर्ल्ड कप टीम में कैगिसो रबाडा के रूप में सिर्फ एक अश्वेत अफ्रीकी खिलाड़ी को शामिल करने के लिए साउथ अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड की आलोचना हो रही है। साउथ अफ्रीका की 15 सदस्यीय टीम में रबाडा समेत 6 अश्वेत खिलाड़ी शामिल हैं। पर रबाडा एकमात्र अश्वेत अफ्रीकी हैं। अन्य अश्वेत खिलाड़ियों में रीजा हेंड्रिक्स, ब्योर्न फोरटुईन, केशव महाराज, तबरेज शम्सी और ओटिनिएल बार्टमैन मौजूद हैं।

Advertisement

रंगभेद को लेकर जमकर हो रहा बवाल

क्रिकेट साउथ अफ्रीका के बदलाव लाने के लक्ष्य के अंतर्गत एक सीजन के दौरान साउथ अफ्रीका की अंतिम प्लेइंग-11 में 6 अश्वेत खिलाड़ियों का होना जरूरी है, जिसमें से दो अश्वेत खिलाड़ी अफ्रीकी होने चाहिए, लेकिन आगामी T20 वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम में रबाडा के रूप में केवल एक अफ्रीकी अश्वेत खिलाड़ी मौजूद हैं। साउथ अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड के अपने लक्ष्य को पूरा न करने की वजह से उसकी आलोचना की जा रही है।

Advertisement

पूर्व खेल मंत्री ने उठाए सवाल

साउथ अफ्रीका के पूर्व खेल मंत्री फिकिले एमबालुला ने टीम के चयन पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर लिखा- 

Advertisement

आगामी T20 विश्व कप 2024 की टीम के लिए केवल एक अश्वेत अफ्रीकी खिलाड़ी को साउथ अफ्रीका की टीम में चुना गया है। निश्चित रूप से ये बदलाव लाने के लक्ष्य से उलट है और इसमें दक्षिण अफीकी लोगों का उचित प्रतिनिधित्व नहीं है। 

CSA के पूर्व अध्यक्ष भी खफा

Advertisement

क्रिकेट साउथ अफ्रीका और इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) के पूर्व अध्यक्ष रे माली ने कहा कि देश इस खेल में पिछड़ रहा है। उन्होंने कहा- 

मेरा मानना है कि बहुत कुछ हासिल कर लिया गया है, लेकिन हम क्रिकेट के मामले में पिछड़ रहे हैं। हमने आगे बढ़ने के बजाय एक कदम पीछे ले लिया है। मैं ये समझ नहीं पा रहा हूं कि हम दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम में ज्यादा संख्या में अश्वेत खिलाड़ियों को क्यों नहीं रख सकते। ये स्वीकार्य नहीं है। 

बता दें कि इस समय क्रिकेट साउथ अफ्रीका की चयन समिति नहीं है और टीम का चयन हेड कोच शुक्री कोनराड (टेस्ट) और रॉब वाल्टर (सफेद गेंद का क्रिकेट) की ओर से किया जाता है। वाल्टर ने अमेरिका और वेस्टइंडीज में होने वाले T20 वर्ल्ड कप 2024 के लिए चुनी गई टीम के चयन का बचाव करते हुए कहा कि घरेलू सर्किट में चयन के लिए इतनी गहराई मौजूद नहीं है। लुंगी एनगिडी भी अश्वेत अफ्रीकी हैं, जो रिजर्व के तौर पर टीम के साथ जाएंगे, लेकिन वो मेन टीम का हिस्सा नहीं हैं।

ये भी पढ़ें- कौन जीतेगा IPL 2024 खिताब? सट्टा बाजार में किस टीम का कितना भाव; जानिए सब कुछ

Advertisement

Published May 15th, 2024 at 20:35 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo