Advertisement
पब्लिश्ड 8 फ़रवरी 2024 अत 9:34 pm ईस्ट

योगी की हुंकार

सियासी गलियारों में व्हाइट Vs ब्लैक की गूंज है . और इस गूंज में भी सियासी तड़का लगाने की होड़ है. मतलब चुनाव करीब है तो मैं बेहतर, मैं बेहतर की आवाजें दसों दिशाओं में गूंज रही है. कांग्रेस जहां सरकार के खिलाफ ब्लैक पेपर लेकर आई वहीं सरकार ने सदन में श्वेत पत्र पेश किया। लेकिन कांग्रेस के काले पत्र को पीएम मोदी ने सहजता से स्वीकार किया और उसे सरकार के लिए काला टीका बताया। वैसे कहते हैं किसी धनुर्धर के तरकश जब बाण से खाली पड़ जाते हैं तो उसके पास सिर्फ और सिर्फ शब्द बाण रह जाते हैं. और यही सोच, यही प्लान  और यही अभियान कांग्रेस का है. मोदी से जीतने का विपक्ष जितनी कोशिश करता है. परिणाम उसके ठीक विपरीत आता है. कोशिशें नाकाम होता देख विपक्ष हर दिन नए नरैटिव गढ़ने में जुटा है। वहीं मोदी सरकार पिछले 10 सालों में जो वादे किए उसे पूरे करने की कोशिश की वो चाहे धारा 370 हो.  राममंदिर का मुद्दा हो या फिर CAA हो और अब UCC की तैयारी शुरू हो चुकी है। दूसरी तरफ यूपी  के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी सदन में साफ-साफ कह दिया है कि अयोध्या का सपना साकार हो चुका है.अब नंदी और कन्हैया कैसे मानेंगे? 
 

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
;