Advertisement

Updated April 1st, 2024 at 13:51 IST

PM मोदी RBI के 90वें सालगिरह समारोह में हुए शामिल, बोले- 10 साल में जो हुआ, वो तो सिर्फ ट्रेलर है...

RBI अपना 90वां सालगिरह मना रहा है। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी भी शामिल हुए और कहा कि बीते 10 साल में जो काम हुआ वो सिर्फ ट्रेलर है।

Reported by: Kanak Kumari
PM Modi
पीएम मोदी | Image:@NarendraModi-Facebook
Advertisement

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया अपने 90 साल पूरे कर रहा है। इस मौके पर आयोजित सालगिरह कार्यक्रम में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि बीते 10 साल में जो भी हुआ है वो तो सिर्फ ट्रेलर है। अभी बहुत कुछ करना बाकी है।

पीएम मोदी ने आरबीआई के 90वें सालगिरह पर कहा, "आज आरबीआई एक ऐतिहासिक मुकाम पर पहुंच गया है। इसने अपने 90 साल पूरे कर लिए। एक संस्था के रूप में, आरबीआई ने स्वतंत्रता-पूर्व और स्वतंत्रता-पश्चात दोनों समय देखे हैं। आज आरबीआई अपनी व्यावसायिकता और प्रतिबद्धता के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। मैं आरबीआई के 90 वर्ष पूरे होने पर आप सभी को बधाई देता हूं।"  

Advertisement

उन्होंने कहा कि एक दशक पहले बैंकिंग क्षेत्र गहरे वित्तीय तनाव में था, लेकिन अब बैंक मुनाफे में है और ऋण वृद्धि रिकॉर्ड स्तर पर है। आज भारत की बैंकिंग व्यवस्था मजबूत होने के साथ-साथ टिकाऊ भी है। देश की जीडीपी मौद्रिक और राजकोषीय नीतियों के बीच समन्वय पर निर्भर है।

10 साल में जो हुआ वो सिर्फ ट्रेलर है...: PM मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा, "भारतीय बैंकिंग क्षेत्र का परिवर्तन एक केस स्टडी है, सरकार ने पीएसयू बैंकों के पुनरुद्धार के लिए उनमें 3.5 लाख करोड़ रुपये की पूंजी डाली। पिछले 10 साल में जो हुआ, वो तो सिर्फ ट्रेलर है। अभी तो बहुत कुछ करना है, अभी तो हमें देश को बहुत आगे लेकर जाना है।"

जब नीयत सही हो तो नीति सही होती है: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, “आज देश देख रहा है, जब नीयत सही होती है, तो नीति सही होती है। जब नीति सही होती है, तो निर्णय सही होते हैं। और जब निर्णय सही होते हैं, तो नतीजे सही मिलते हैं।” इससे पहले आरबीआई के 80वें सालगिरह में पीएम मोदी शामिल हुए थे। अब 90वें समारोह में उन्होंने कहा कि मैं जब 2014 में रिजर्व बैंक के 80वें वर्ष के कार्यक्रम में आया था, तब हालात एकदम अलग थे। भारत का पूरा बैंकिंग सेक्टर समस्याओं और चुनौतियों से जूझ रहा था। NPA को लेकर भारत के बैंकिंग सिस्टम की स्थिरता और उसके भविष्य को लेकर हर कोई आशंका से भरा हुआ था...और आज भारत के बैंकिंग सिस्टम को दुनिया में एक मज़बूत और टिकाऊ प्रणाली माना जा रहा है। जो बैंकिंग सिस्टम कभी डूबने की कगार पर था, वो बैंकिंग सिस्टम अब प्रॉफिट में आ गया है और क्रेडिट में रिकॉर्ड वृद्धि दिखा रहा है।

इसे भी पढ़ें: कच्चातिवु पर एस जयशंकर ने कांग्रेस-DMK को घेरा, बोले- कांग्रेसी PM को नहीं थी भारतीय जमीन की फिक्र

Advertisement

Published April 1st, 2024 at 12:35 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo