Advertisement

Updated May 14th, 2024 at 18:15 IST

Late Periods: हर बार बदल जाती है आपके पीरियड्स की डेट? जानें कितनी देरी होना नॉर्मल और क्या है वजह

मासिक धर्म (Periods) देरी से आना नॉर्मल है या नहीं? अगर पीरियड्स लेट होने पर आपके मन में भी ऐसे सवाल उठते हैं तो चलिए इसके बारे में जानते हैं।

Reported by: Sadhna Mishra
Periods
पीरियड्स लेट होना नॉर्मल है या नहीं? | Image:Freepik
Advertisement

Kitne Din Periods Der Se Aana Sahi: महिलाओं को मासिक धर्म से हर महीने गुजरना पड़ता है। आमतौर पर 3 से 8 दिनों तक चलने वाले पीरियड्स के पहले दिन से अगले मासिक धर्म के पहले दिन तक की अवधि 21 से 35 दिनों के बीच होती है और इसी में महिला को पीरियड्स होते हैं, लेकिन कई बार यह काफी लेट हो जाता है। ऐसे में महिलाओं के मन में कई तरह के सवाल उठने लगते हैं कि पीरियड्स देरी से आना नॉर्म है या नहीं?

दरअसल, हर महिला का पीरियड्स (Periods Cycle) आने का समय अलग-अलग होता है, लेकिन इसका समय औसतन 28 दिन का होता है। इसकी डेट चेंज होना नॉर्मल है, लेकिन अगर यह ज्यादा लेट होता है, तो कई बार यह गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। ऐसे में आइए जानते हैं कि मासिक धर्म में कितने दिन की देरी नॉर्मल है और पीरियड्स में लेट क्यों होता है।

Advertisement

कितने दिन पीरियड्स लेट होना नॉर्मल है? (Periods)

गाइनोकॉलोजिस्ट के मुताबिक पीरियड्स का लेट आना नॉर्म नहीं होता है। मासिक धर्म के लेट होने के पीछे कई बार गंभीर कारण तो कई बार नॉर्मल भी हो सकते हैं। अगर ऐसा ही 1-2 महीने चलता रहे, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। वहीं अगर पीरियड्स साइकिल 40 दिनों तक न मासिक धर्म न हो तो यह गंभीर समस्या हो सकती है।

Advertisement

किन कारणों से लेट होता है पीरियड्स?

वजन बढ़ना (Gaining Weight)
कई बार महिलाओं का वजन बढ़ने की वजह से शरीर में हार्मोन्स असंतुलित हो जाते हैं, जिसके कारण पीरियड्स लेट हो सकते हैं। ऐसे में जितना हो सके हेल्दी डाइट लें और वजन कंट्रोल करने की कोशिश करें।

Advertisement

डायबिटीज होने पर (Diabetes)
अक्सर महिलाओं थायराइड, ब्लड प्रेशर और शुगर की चपेट में आ जाती है। ऐसे में जब हार्मोन्स में बदलाव होते हैं, तब भी मासिक धर्म में देरी हो सकती है।

गर्भनिरोधक गोलियों के कारण (Contraceptive Pills)
अगर आप गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं, तो इसकी वजह से भी आपके मासिक धर्म में देरी हो सकती है। साथ ही जब इसका सेवन करना बंद करती हैं, तो इसके बाद भी पीरियड्स की साइकिल को नॉर्मल होने में 6 महीनों तक का समय लग सकता है।

Advertisement

वजन घटने की वजह से (Weight Loss)
महिलाओं में वजन बढ़ना ही नहीं बल्कि वजन घटना भी मासिक धर्म (Menstruation) के साइकिल को प्रभावित करता है। वजन घटने पर महिलाओं में ईटिग डिसऑर्डर के लक्षण दिखते है। ऐसे में हेल्दी डाइट लें और अपने वजन को मेनटेन रखें। 

यह भी पढ़ें… Diabetes: आप भी करते हैं ये काम, डायबिटीज बना सकती है अपना शिकार, सेहत की दुश्मन हैं आपकी ये आदतें

Advertisement

Disclaimer: आर्टिकल में बताई विधियां, तरीके और दावे अलग-अलग जानकारियों पर आधारित हैं।  REPUBLIC BHARAT आर्टिकल में दी गई जानकारी के सही होने का दावा नहीं करता। किसी भी उपचार और सुझाव को अप्लाई करने से पहले डॉक्टर या एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

Published May 14th, 2024 at 18:15 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

20 घंटे पहलेे
1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo