Advertisement

Updated April 2nd, 2024 at 16:07 IST

महिला सशक्तिकरण की मिसाल बना MP का ये शहर! 39 फीसदी संपत्ति गृहलक्ष्मी के नाम रजिस्टर

इन संपत्तियों का कुल मूल्य करीब 5,500 करोड़ रुपये है। पंजीयन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

Reported by: Digital Desk
indore women empowernment
इंदौर में महिला सशक्तिकरण की मिसाल | Image:@comindore (file photo)
Advertisement

Indore News: मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में वित्तीय वर्ष 2023-24 के दौरान करीब 39 प्रतिशत अचल संपत्तियों का पंजीयन केवल महिलाओं के नाम पर कराया गया। इन संपत्तियों का कुल मूल्य करीब 5,500 करोड़ रुपये है। पंजीयन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

वरिष्ठ जिला पंजीयक दीपक कुमार शर्मा ने ‘‘पीटीआई-भाषा’’ को बताया कि 31 मार्च को खत्म हुए वित्तीय वर्ष 2023-24 में इंदौर में अचल संपत्तियों के कुल 93,500 विक्रय पत्रों अथवा हस्तांतरण पत्रों का पंजीयन किया गया जिनमें से 36,300 दस्तावेजों का पंजीयन केवल महिलाओं के नाम हुआ।

Advertisement

उन्होंने बताया कि पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान जिले में महिलाओं के नाम पर पंजीकृत इन संपत्तियों का कुल मूल्य करीब 5,500 करोड़ रुपये है। शर्मा ने बताया कि प्रदेश सरकार महिलाओं के नाम पर संपत्तियों के पंजीयन को प्रोत्साहित करने के लिए पंजीयन शुल्क में दो प्रतिशत की छूट देती है। वरिष्ठ जिला पंजीयक के मुताबिक इंदौर में 2023-24 के दौरान इस मद में करीब 95 करोड़ रुपये की छूट दी गई जो राज्य भर में संभवतः सर्वाधिक है।

उन्होंने कहा, ‘‘महिलाओं के नाम पर अचल संपत्तियों का पंजीयन लगातार बढ़ रहा है। यह सामाजिक रूप से एक सुखद सूचकांक है जो बताता है कि आर्थिक मामलों में आधी आबादी की भागीदारी और ताकत बढ़ रही है।’’

Advertisement

शर्मा ने बताया कि 2023-24 के दौरान इंदौर जिले में अलग-अलग दस्तावेजों के पंजीयन से करीब 2,415 करोड़ रुपये का शुल्क सरकारी खजाने में जमा हुआ जो 2022-23 के 2084.30 करोड़ रुपये के राजस्व से लगभग 16 प्रतिशत अधिक है।

ये भी पढ़ें- 'अरविंद केजरीवाल को बचाने के लिए बलि का बकरा ढूंढती है AAP', आतिशी के बयान पर BJP का पलटवार

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published April 2nd, 2024 at 16:07 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo