Advertisement

Updated June 6th, 2024 at 17:52 IST

राजस्थान के आदिवासी इलाकों में रिक्त पद प्राथमिकता से भरे जायें- राज्यपाल कलराज मिश्रा

राज्यपाल कलराज मिश्र ने राज्य के आदिवासी आदिवासी इलाकों में रिक्त पदों को भरे जाने के लिए भी सर्वोच्च प्राथमिकता रखते हुये कार्य करने का आह्वान किया है।

Governor Kalraj Mishra
राज्यपाल कलराज मिश्र | Image:पीटीआई
Advertisement

राज्यपाल कलराज मिश्र ने राज्य के आदिवासी इलाकों में चिकित्सकों, पैरामेडिकल तथा शैक्षणिक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों के रिक्त पदों को भरे जाने के लिए भी सर्वोच्च प्राथमिकता रखते हुये कार्य करने का आह्वान किया है।

मिश्र बृहस्पतिवार को यहां राजभवन में जनजाति कल्याण के लिये संचालित योजनाओं एवं विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा बैठक में संबोधित कर रहे थे। आधिकारिक बयान के अनुसार मिश्र ने राज्य के जनजाति क्षेत्रों में सामाजिक, आर्थिक एवं शैक्षिक विकास के तीव्र विकास के प्रयास किए जाने का आह्वान किया और आदिवासी क्षेत्रों में रिक्त पदों को भरने के लिए भी सभी स्तरों पर गंभीर प्रयास किए जाने की आवश्यकता जताई।

Advertisement

उन्होंने कहा कि जनजाति क्षेत्रों में मजबूत स्वास्थ्य तंत्र विकसित हो तथा सहज एवं सस्ता उपचार उपलब्ध कराना हमारी प्राथमिकता होना चाहिए।  उन्होंने आदिवासी इलाकों में चिकित्सकों, पैरामेडिकल तथा शैक्षणिक और अशैक्षणिक रिक्त पदों को भरे जाने के लिए भी सर्वोच्च प्राथमिकता रखते कार्य करने का आह्वान किया। उन्होंने योजनाओं और विकास कार्यक्रमों के साथ आदर्श गांवों की प्रगति की नियमित मॉनिटरिंग किए जाने पर भी जोर दिया।

बैठक में जनजाति विकास विभाग मंत्री बाबूलाल खराड़ी तथा विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारियों ने भाग लिया। संबंधित अनुसूचित क्षेत्रों के जिला कलेक्टर भी बैठक में ऑनलाइन शामिल हुए। इसके अनुसार मिश्र ने वंचित वर्ग के विद्यार्थियों को दी जाने वाली उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति की स्वीकृति और भुगतान समय पर और शत प्रतिशत किए जाने के भी निर्देश दिए।

Advertisement

उन्होंने कहा कि छात्रवृति आवेदन प्रक्रिया सहज और सरल बनाई जाए ताकि अधिक से अधिक विद्यार्थी इससे लाभान्वित हो सके। मंत्री खराड़ी ने मनरेगा के तहत जिलों में कैंप लगाकर अधिकाधिक श्रम कार्ड बनाने, श्रमिकों को पेंशन और अन्य सुविधाओं का समुचित लाभ दिलाने के लिए भी सभी स्तरों पर प्रभावी प्रयास किए जाने पर जोर दिया। उन्होंने आदिवासी क्षेत्र कल्याण के लिए सभी को प्रतिबद्ध होकर काम करने पर जोर दिया।

 

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published June 6th, 2024 at 17:52 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

3 घंटे पहलेे
1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo