Advertisement

Updated May 19th, 2024 at 16:18 IST

स्वाती मालीवाल केस: लखनऊ से मुंबई तक दौड़, फिर दिल्ली में CM आवास बना ठिकाना, कैसे पकड़ में आए विभव?

स्वाति मालीवाल पर सीएम हाउस में 13 मई को कथित हमला हुआ था। घटना के छठे दिन 19 मई को दिल्ली पुलिस ने विभव कुमार को गिरफ्तार किया।

Reported by: Digital Desk
Edited by: Dalchand Kumar
Bibhav Kumar reaches Tis Hazari Court
Swati Maliwal Assault Case: Bibhav Kumar reaches Tis Hazari Court | Image:Republic
Advertisement

Bibhav Kumar: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के करीबी विभव कुमार अब दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में हैं। राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल की शिकायत के बाद विभव कुमार की गिरफ्तारी हुई है। 19 मई को दिल्ली पुलिस ने उसी मुख्यमंत्री आवास से विभव कुमार को गिरफ्तार किया, जहां 6 दिन पहले 13 मई को स्वाति मालीवाल पर कथित हमला हुआ था। इन 6 दिनों के भीतर विभव कुमार की लोकेशन पंजाब में भी मिली थी, उन्हें लखनऊ में भी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ देखा गया था और मुंबई भी जाने की चर्चाएं सामने आईं। हालांकि लखनऊ से मुंबई तक दौड़ लगाने के बाद जब विभव कुमार दिल्ली वापस आ गए तो उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

दिल्ली पुलिस की टीम शनिवार को अचानक से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर पहुंची थी, जहां विभव कुमार की मौजूदगी के बारे में पता चला था। उसके पहले आम आदमी पार्टी के सांसद राघव चड्ढा भी सीएम हाउस पहुंच चुके थे। कुछ समय बाद सीएम आवास से विभव कुमार को गिरफ्तार करके दिल्ली पुलिस सिविल लाइंस थाने ले गई। बाद में उन्हें कोर्ट में पेश किया, जहां से 5 दिन की कस्टडी मिल चुकी है। हालांकि आपको यहां वो टाइम लाइन समझाते हैं कि विभव कुमार कैसे पुलिस की पकड़ में आए?

Advertisement

विभव कुमार की गिरफ्तारी की पूरी टाइमलाइन

दिल्ली पुलिस के सूत्र बताते हैं कि लोकल इंटेलिजेंस से पता चला था कि विभव कुमार 19 मई को मुख्यमंत्री आवास के भीतर थे, जिसके बाद टीम तुरंत एक्टिव हुई और मुख्यमंत्री आवास पर जा धमकी। उत्तरी दिल्ली पुलिस की स्पेशल स्टाफ टीम मुख्यमंत्री आवास पहुंची थी। इसमें उत्तरी दिल्ली की एडिशनल डीसीपी अंजिता चेप्याला के साथ सिविल लाइंस के एसएचओ थे। सूत्र बताते हैं कि जब सीएम हाउस पर दिल्ली पुलिस की टीम पहुंची थी तो विभव कुमार अपने रूम के बाहर आ चुके थे। अंदेशा है कि विभव ने पहले ही सीसीटीवी में पुलिस को देख लिया था, जिसके बाद वो खुद अपने रूम से बाहर निकलकर आ गए।

Advertisement

यह भी पढ़ें: स्वाति मालीवाल कांड: सीएम हाउस का फुटेज गायब, सीसीटीवी से छेड़छाड़ की आशंका

सूत्रों का कहना है कि जब वक्त विभव कुमार को दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री आवास से पकड़ा था, उस समय राघव चड्ढा वहीं मौजूद थे। दिलचस्प बात ये थी कि विभव कुमार को ले जाते समय सीएम हाउस में किसी ने विरोध नहीं किया था। सूत्र बताते हैं कि विभव कुमार को पिछले गेट से लेकर पुलिस सिविल लाइंस की तरफ निकल गई थी, जबकि बड़े पुलिस अधिकारी सीएम हाउस के मेन गेट से निकले थे।

Advertisement

विभव क्यों फिर CM हाउस लौटे थे?

सूत्र कहते हैं कि फिलहाल पुलिस ये पता लगाने की कोशिश में लगी है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल के साथ लखनऊ तक जाने वाले विभव कुमार वापस सीएम हाउस क्यों आए थे? विभव कुमार के वापस सीएम हाउस होने को लेकर एक संदेह ये भी हो सकता है कि कहीं सबूतों को मिटाने की कोशिश तो नहीं की गई। दिल्ली पुलिस ने रिमांड अर्जी में कहा कि शनिवार को विभव कुमार मुख्यमंत्री के आवास पर मौजूद थे और पूछताछ किए जाने पर उन्होंने टालमटोल करने वाले जवाब दिए। दिल्ली पुलिस खुद यहां तक कहती है कि 'घटना स्थल पर उनकी मौजूदगी से इलेक्ट्रॉनिक उपकरण समेत अहम सबूतों से छेड़छाड़ किए जाने की अधिक संभावना है।'

Advertisement

रिमांड अर्जी में पुलिस ने किया बड़ा खुलासा

दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया कि विभव कुमार ने गिरफ्तारी से पहले शुक्रवार को मुंबई में अपना मोबाइल 'फॉर्मेट' कर दिया था। जबकि उनके मोबाइल फोन के डेटा तक पासवर्ड की मदद से ही पहुंचा जा सकता है। हालांकि पुलिस मोबाइल से हटाए गए डेटा को रिकवर करने के लिए विभव कुमार को मुंबई ले जा सकती है।

Advertisement

यह भी पढ़ें: केजरीवाल ने दी चुनौती- हमें गिरफ्तार करो; कहा- पार्टी को खत्म करने की साजिश हो रही है

Advertisement

Published May 19th, 2024 at 13:31 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo