Advertisement

Updated April 3rd, 2024 at 22:35 IST

'जहां शाहजहां बढ़ते हैं वहां नूरजहां से मदद होती है', ममता को लेकर अधीर रंजन ने ये क्या कह दिया?

West Bengal News : अधीर रंजन चौधरी ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में जमकर ड्रग्स, जाली नोट, मानव तस्करी, किडनी और मानव तस्करी हो रही है।

Reported by: Digital Desk
Edited by: Sagar Singh
Advertisement

Lok Sabha Election 2024 : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के INDI गठबंधन से अलग होने के बाद कांग्रेस का गुस्सा रह-रहकर निकल रहा है। पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष और कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने मुर्शिदाबाद में कानून व्यवस्था का मुद्दा उठाते हुए ममता सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने ममता बनर्जी पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल आज के वक्त में अपराधियों के लिए सबसे बड़ा पनाहगाह बन गया है।

अधीर रंजन चौधरी ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में जमकर ड्रग्स, जाली नोट, किडनी और मानव तस्करी हो रही है। शाहजहां शेख का नाम लेकर ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए चौधरी ने कहा कि बंगाल अपराधियों का सबसे बड़ा आश्रय स्थान है, क्योंकि यहां दीदी और उनकी पुलिस है। जहां शाहजहां बढ़ते हैं, वहां नूरजहां द्वारा मदद होती ही है। बता दें, अधीर रंजन चौधरी प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर लगातार सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधते हैं।

Advertisement

9 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में शेख 

ED ने TMC नेता शाहजहां शेख को हिरासत में ले रखा है। इससे पहले शाहजहां शेख CBI की कस्टडी में था। पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले की एक अदालत ने जनवरी में संदेशखालि में ईडी अधिकारियों पर भीड़ के हमले के मामले में तृणमूल कांग्रेस के निलंबित नेता शाहजहां शेख को नौ अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेजा था। शाहजहां शेख के समर्थकों ने ED पर हमला किया था। ED के अधिकारियों पर भीड़ द्वारा हमला तब किया गया था, जब वे कथित राशन वितरण घोटाला मामले में जांच के सिलसिले में 5 जनवरी को संदेशखालि में शेख के परिसर की तलाशी लेने गए थे।

Advertisement

CBI को सौंपने में हुआ था ड्रामा

इससे पहले शाहजहां शेख को CBI को सौंपने में भी काफी ड्रामा हुआ था। उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को निर्देश दिया था कि वह संदेशखाली में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों पर हमले के मामले को सीबीआई को स्थानांतरित करने और मुख्य आरोपी शाहजहां शेख को केंद्रीय एजेंसी को सौंपने के आदेश को ‘‘तुरंत लागू’’ करे।

Advertisement

सीबीआई अधिकारियों की टीम अपराह्न चार बजे से पहले ही भवानी भवन पहुंच गई। लेकिन सीआईडी ने शाहजहां को केंद्रीय एजेंसी के हवाले शाम छह बजकर 48 मिनट पर किया जबकि कलकत्ता उच्च न्यायालय ने अपराह्न चार बजकर 15 मिनट की समय सीमा तय की थी।

(इनपुटः PTI भाषा के साथ रिपब्लिक भारत)

Advertisement

ये भी पढ़ें: पल-पल फैसला क्यों बदल रहे अखिलेश यादव? मेरठ सीट पर अब अतुल प्रधान की जगह पूर्व मेयर सुनीता वर्मा को दिया टिकट
 

Advertisement

Published April 3rd, 2024 at 22:35 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo