Advertisement

Updated June 7th, 2024 at 07:23 IST

Rajasthan: गहलोत सरकार में हुई सभी भर्तियों की होगी जांच, सीएम भजनलाल ने गठित की कमेटी

राजस्थान में बीते 5 सालों में हुई भर्ती को लेकर भजन लाल सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। इसके लिए कमेटी गठित की गई है।

Reported by: Kanak Kumari
Rajasthan Chief Minister Bhajan Lal Sharma
राजस्थान सीएम भजनलाल शर्मा | Image:PTI/ Representational
Advertisement

राजस्थान में बीते 5 सालों में हुई भर्ती को लेकर भजनलाल सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा ने सरकारी नौकरी पाने में धोखाधड़ी की गतिविधियों के आरोपों के बीच पिछले पांच सालों में राज्य कर्मचारियों की भर्ती प्रक्रियाओं की व्यापक जांच के लिए कमेटी गठित किया है।

एक आधिकारिक बयान में, भजनलाल सरकार ने खुलासा किया कि कुछ व्यक्तियों ने कथित तौर पर फर्जी शैक्षिक दस्तावेज जमा करके और उनकी ओर से परीक्षा देने के लिए प्रॉक्सी उम्मीदवारों का उपयोग करके पद हासिल किए हैं। इस वजह से बीते 5 सालों में हुई सभी भर्तियों की गहन समीक्षा की जाएगी।

Advertisement

सीएम भजनलाल की ओर से दिए गए आदेश में कहा गया है, "राज्य सरकार को सूचित किया गया है कि पिछले पांच वर्षों में विभिन्न विभागों में की गई भर्तियों में कुछ उम्मीदवारों ने फर्जी शैक्षणिक योग्यता दस्तावेज प्रस्तुत करके और परीक्षा में बैठने के लिए डमी उम्मीदवारों का इस्तेमाल करके सरकारी नौकरियां प्राप्त की हैं।"

आदेश में आगे कहा गया, "मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रत्येक विभाग एक आंतरिक समिति गठित करे जो जांच करे कि पिछले पांच वर्षों में भर्ती हुए कर्मचारियों के लिए परीक्षा देने वाला व्यक्ति और लोक सेवक के रूप में नियुक्त व्यक्ति एक ही व्यक्ति है या नहीं।"

Advertisement

सभी डॉक्यूमेंट्स की होगी गहन जांच

इसके साथ ही भर्ती हुए कर्मचारियों के शैक्षणिक योग्यता के दस्तावेज, आवेदन के समय प्रस्तुत किए गए आवेदन पत्र, फोटो और हस्ताक्षर की भी गहन जांच की जाएगी। आदेश में कहा गया है कि, "जांच के बाद जिन कर्मचारियों की भर्ती संदिग्ध लगती है, उनकी जानकारी एसओजी को उपलब्ध कराई जाए।"

Advertisement

इसे भी पढ़ें: अमेरिका ने सुपर ओवर में पाकिस्तान को दी शिकस्त, प्वाइंट्स टेबल मे किया बड़ा उलटफेर 

Advertisement

Published June 7th, 2024 at 07:16 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo