Advertisement

Updated June 10th, 2024 at 20:10 IST

कंगना रनौत थप्पड़ कांड पर बोले CM मान- 'लड़की के दिल में गुस्सा था, लेकिन पंजाब को...'

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के साथ हुए थप्पड़ कांड पर पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि लड़की के दिल में गुस्सा था इसलिए उसने ऐसा किया।

Reported by: Kanak Kumari
Advertisement

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के साथ हुए थप्पड़ कांड मामले में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पहली बार बयान दिया है। सीएम मान ने कहा कि लड़की (कुलविंदर कौर) के मन में कंगना द्वारा कहे गए बात को लेकर गुस्सा था। जो हुआ वो गलत हुआ। 

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा, “वो एक गुस्सा था। कंगना ने उस तरह से बोला था, जिसकी वजह से लड़की के दिल में गुस्सा था। ये होना नहीं चाहिए था लेकिन इसके बाद भी एक पब्लिक फिगर, फिल्म स्टार और निर्वाचित सांसद होकर ये बोलना कि पूरा पंजाब आतंकवादी है, ये गलत है।”

Advertisement

कंगना के आतंकवाद वाले बयान पर भड़के सीएम मान

कंगना के आतंकवाद वाले बयान पर सीएम मान ने कहा, “ये वो पंजाब है, जिसने देश दिया है, ये वो पंजाब है जो आज भी देश का पेट पाल रहा है। हमने कुर्बानियां दी है। आज भी नौजवान कारगिल में ठंड के बीच खड़े हो रहे हैं। यहां आजादी दिलाने वाले लोग हैं, लेकिन आप तो हर बात पर आतंकवादी कह देते हैं। तो ये गल बात है।”

Advertisement

ये क्या बोले गए संजय राउत?

उद्धव गुट के सांसद संजय राउत ने कहा, “इस तरह से कानून को हाथ में नहीं लेना चाहिए, लेकिन जवान ने अपनी मां के लिए कानून को हाथ में लिया। भारत माता भी मां ही होती है। भारत माता का अपमान किया और उस पर गुसा आया तो इस बारे में सुनना चाहिए।” उन्होंने कहा कि संसद पर हाथ नहीं उठाना चाहिए, लेकिन किसान का सम्मान होना चाहिए। मुंबई को कंगना ने पाकिस्तान कहा था, तो गुस्सा होने का हक सबको है। आपको भी हमको भी है।

Advertisement

बजरंग पुनिया ने कुलविंदर कौर के थप्पड़ का किया समर्थन

रेसलर बजरंग पुनिया ने इस पूरे मामले पर अपने एक्स हैंडल के जरिए रिएक्ट किया। उन्होंने कंगना को थप्पड़ मारने वाली CISF जवान कुलविंदर कौर के समर्थन में ये पोस्ट किया, जो  तेजी से वायरल भी हुआ। बजरंग पुनिया ने अपने ट्वीट में लिखा- “जब महिला किसानों के लिए अनाप शनाप बोला जा रहा था, तब कहां थे नैतिकता पढ़ाने वाले लोग। अब उस किसान मां की बेटी ने गाल लाल कर दिया तो शांति का पाठ पढ़ाने आ गए। सरकारी जुल्म से किसान मारे गए, उस समय यह शांति पाठ पढ़ाना था हुकूमत को।” उन्होंने आगे लिखा है कि घटाएं उठती हैं बरसात होने लगती है, जब आंख भर के फलक को किसान देखता है।

Advertisement

इसे भी पढ़ें: मोदी कैबिनेट में मंत्रालय का बंटवारा, नितिन गडकरी फिर बनें सड़क परिवहन मंत्री; सामने आई पहली लिस्ट

 

 

Advertisement

Published June 10th, 2024 at 16:07 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo