Advertisement

Updated June 11th, 2024 at 23:58 IST

हरियाणा विस चुनाव में उम्मीदवार चयन में जीतने की क्षमता महत्वपूर्ण कारक होगा: भूपेंद्र सिंह हुड्डा

कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मंगलवार को कहा कि आगामी हरियाणा चुनाव में जीतने की क्षमता एक महत्वपूर्ण कारक होगी।

Bhupinder Singh Hooda
भूपेंद्र सिंह हुड्डा | Image:PTI
Advertisement

कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मंगलवार को कहा कि आगामी हरियाणा चुनाव में जीतने की क्षमता एक महत्वपूर्ण कारक होगी और दावा किया कि उनकी पार्टी अच्छी स्थिति में है और उसे जनता का भारी समर्थन मिल रहा है।

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ने अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के चयन के बारे में कहा कि हमारे मानदंड वही रहेंगे, जीतने की क्षमता एक महत्वपूर्ण कारक है।

Advertisement

हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता हुड्डा ने कथित कुशासन के लिए राज्य की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार की आलोचना करते हुए कहा, "लोगों ने कांग्रेस को सत्ता में लाने का मन बना लिया है।"

हुड्डा ने यहां संवाददाताओं से कहा, "उनके पिछले दस साल के शासन को एक काले दशक के रूप में याद किया जाएगा।"

Advertisement

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस प्रमुख उदयभान और कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा और जय प्रकाश भी मौजूद थे।

भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी (आप) के साथ गठबंधन नहीं करेगी।

Advertisement

उन्होंने कहा, "जहां तक ​​आप के साथ हमारे गठबंधन की बात है, तो यह राष्ट्रीय स्तर (लोकसभा चुनाव) के लिए है, न कि राज्य (विधानसभा) स्तर के लिए।"

हुड्डा के बेटे दीपेंद्र हुड्डा ने भी सोमवार को कहा था कि कांग्रेस का आप के साथ गठबंधन लोकसभा चुनाव तक सीमित है।

Advertisement

आप नेता के इस दावे के बारे में पूछे जाने पर कि उनकी पार्टी को कुरुक्षेत्र सीट के लिए कांग्रेस से पर्याप्त समर्थन नहीं मिला, हुड्डा ने कहा कि आप के प्रदेश प्रमुख सुशील गुप्ता ने स्पष्ट किया है कि यह एक व्यक्तिगत टिप्पणी थी।

हरियाणा में, आम आदमी पार्टी ने ‘इंडिया’ गठबंधन के हिस्से के रूप में कुरुक्षेत्र सीट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन वह हार गई, जबकि कांग्रेस ने शेष नौ सीट पर चुनाव लड़ा था और पांच पर जीत हासिल की।

Advertisement

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने नायब सिंह सैनी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार पर अपने पहले के रुख को दोहराया, जिसके बारे में उन्होंने कहा है कि यह सरकार "अल्पमत" में है और इसे सत्ता में बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं है।

उन्होंने कहा, "सरकार अल्पमत में है। इसलिए हमने पहले राज्यपाल को पत्र लिखा था" और मांग की कि "खरीद-फरोख्त रोकने के लिए" विधानसभा भंग की जाए। उन्होंने कहा, "अब हम सुन रहे हैं कि जननायक जनता पार्टी (जजपा) के दो विधायक इस्तीफा देंगे, फिर हम कुछ और बातें भी सुन रहे हैं... इसे रोकने के लिए विधानसभा भंग की जानी चाहिए। तुरंत नए चुनाव होने चाहिए।"

Advertisement

हुड्डा ने सैनी के इस आरोप का भी खंडन किया कि राज्य की पूर्व कांग्रेस सरकार ने गरीबों को 100 वर्ग गज के भूखंड देने का झूठा वादा करके गुमराह किया। हुड्डा ने कहा, "हमने करीब 4 लाख परिवारों को 100 वर्ग गज के भूखंड मुफ्त में दिए। भूखंड सौंपने की प्रक्रिया जारी रहने के कारण और भी लोगों को आवंटित किए जाने थे, लेकिन जब भाजपा सत्ता में आई (2014 में), तो उसने इस योजना को रोक दिया।" उन्होंने कहा, "अब जब विधानसभा चुनाव नजदीक हैं, तो उन्हें अचानक वह योजना याद आ गई है, जिसे उन्होंने बंद कर दिया था। उन्हें लोगों से माफी मांगनी चाहिए कि उन्होंने इसे दस साल तक क्यों बंद रखा।"

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने आरोप लगाया कि पिछले 10 सालों में भाजपा सरकार ने महंगाई, कानून-व्यवस्था और बेरोजगारी जैसे कई विकास के मामलों में राज्य को पीछे कर दिया है। हुड्डा ने कहा, ‘‘उन्होंने राज्य को कर्ज के जाल में धकेल दिया है।"

Advertisement

हाल के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर हुड्डा ने कहा, " इंडिया गठबंधन ने राज्य में 47.6 प्रतिशत वोट हासिल किया, जो देश के सभी राज्यों में सबसे अधिक है। अन्य राज्यों में, विपक्षी गठबंधन ने तमिलनाडु में 46.9 प्रतिशत, कर्नाटक में 45.4 प्रतिशत, केरल में 45.1 प्रतिशत, उत्तर प्रदेश में 43.5 प्रतिशत, हिमाचल प्रदेश में 41.7 प्रतिशत और छत्तीसगढ़ में 41.1 प्रतिशत वोट हासिल किया।"

उन्होंने दावा किया, "लोकसभा में भाजपा को आधी सीटें मिलीं, विधानसभा में उन्हें करारी हार मिलेगी।"

Advertisement

Published June 11th, 2024 at 23:58 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo