Advertisement

Updated April 4th, 2024 at 13:01 IST

'मोदी का परिवार' की तर्ज पर तिहाड़ से केजरीवाल का संदेश, पत्नी सुनीता ने सुनाया- मैं जेल में हूं...

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जेल से एक वीडियो जारी कर विधायकों को संदेश दिया है। उन्होंने विधायकों से दिल्ली वालों का ध्यान रखने के लिए कहा है।

Reported by: Kanak Kumari
Arvind Kejriwal Sunita Kejriwal
अरविंद केजरीवाल ने पत्नी सुनीता से वीडियो कॉन्फ्रेंस से की बात | Image:ANI
Advertisement

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जेल से एक वीडियो जारी कर आम आदमी पार्टी के विधायकों को संदेश दिया है। सीएम केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने उनका संदेश वीडियो जारी कर विधायकों तक पहुंचाया है। सीएम केजरीवाल ने आप के विधायकों से दिल्ली वालों का ध्यान रखने के लिए कहा है।

सुनीता केजरीवाल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री का मैसेज पढ़ते हुए कहा, "आपके केजरीवाल ने सभी विधायकों के लिए जेल से संदेश भेजा है। मैं जेल में हूं, इस वजह से किसी भी दिल्लीवासी को किसी तरह की तकलीफ नहीं होनी चाहिए। हर विधायक इलाके का रोज दौरा करें और लोगों से उनकी समस्याएं पूछे और उसे दूर करें... दिल्ली के दो करोड़ लोग मेरा परिवार हैं।"

Advertisement

सीएम पद से हटाए जाने की याचिका पर सुनवाई से कोर्ट का इनकार

दिल्ली HC ने आबकारी नीति से जुड़े धन शोधन मामले में ED की ओर से अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटाने का अनुरोध करने वाली एक जनहित याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया। कोर्ट ने कहा कि कई बार राष्ट्रीय हित को निजी हित के ऊपर तरजीह देनी होती है।

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश मनमोहन और जस्टिस मनमीत पीएस अरोड़ा की पीठ ने कहा, “कई बार राष्ट्रीय हित को निजी हित से ऊपर रखना पड़ता है लेकिन यह उनका व्यक्तिगत फैसला है। हमें एक अदालत के तौर पर कानून के अनुसार चलना होगा। आपका समाधान यहां नहीं, कहीं और है। आप सक्षम प्राधिकरण के पास जाइए।” जजों की पीठ ने कहा कि उसने हाल में ऐसी ही एक जनहित याचिका खारिज कर दी थी जिसमें केजरीवाल को मुख्यमंत्री पद से हटाने का अनुरोध किया गया था और इसलिए वह कोई अलग रुख नहीं अपना सकती है। 

Advertisement

अब उपराज्यपाल को लगाएंगे अर्जी

याचिकाकर्ता विष्णु गुप्ता के वकील ने कहा कि चूंकि अदालत ने इस मामले में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया है तो उन्हें याचिका वापस लेने का निर्देश दिया गया है और वह उपराज्यपाल के समक्ष अपनी अर्जी लेकर जाएंगे। अदालत ने याचिकाकर्ता को याचिका वापस लेने की अनुमति देते हुए उसका निस्तारण कर दिया।

Advertisement

इसे भी पढ़ें: सपा ने मेरठ में फिर किया खेल, अतुल प्रधान का कटा टिकट और पूर्व मेयर सुनीता वर्मा बनी प्रत्याशी

Advertisement

Published April 4th, 2024 at 12:52 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo