Advertisement

Updated January 8th, 2023 at 14:24 IST

'चाय में जहर दे दोगे तब, सच में भरोसा नहीं'... मनीष की गिरफ्तारी के बाद UP Police पर भड़के Akhilesh Yadav

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अपने 'गालीबाज' नेता मनीष जगन अग्रवाल को बचाने के लिए खुद उतर आए हैं।

Reported by: Dalchand Kumar
| Image:self
Advertisement

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अपने 'गालीबाज' नेता मनीष जगन अग्रवाल को बचाने के लिए खुद उतर आए हैं। लखनऊ पुलिस (Lucknow Police) ने मनीष अग्रवाल गिरफ्तार किया तो अखिलेश यादव ने पुलिस मुख्यालय में डेरा जमा लिया। कुछ नेताओं के साथ सपा मुखिया अखिलेश यादव (SP Chief Akhilesh Yadav) पुलिस मुख्यालय पहुंचे और मनीष की रिहाई की मांग की। इस दौरान लखनऊ पुलिस से अखिलेश यादव की नाराजगी भी देखने को मिली। 

दरअसल, अखिलेश यादव जब लखनऊ में पुलिस हेडक्वार्टर पहुंचे तो वहां मौजूद पुलिस अफसर उनके लिए चाय मंगवाने लगे। लेकिन अखिलेश यादव ने चाय पीने से इनकार कर दिया। अखिलेश यादव ने कहा कि हम यहां की चाय नहीं पियेंगे। पुलिस पर हमें बिल्कुल भरोसा नहीं है, चाय में जहर भी दे सकती है। अखिलेश ने कहा, 

हम यहां की चाय नहीं पियेंगे। हम बाहर से अपनी चाय लाएंगे, कप आपका ले लेंगे। हम नहीं पी सकते, जहर दे दोगे तो? हमें भरोसा नहीं। हमें सच में पुलिस पर भरोसा नहीं है। हम बाहर से मंगा लेंगे।

पुलिस ने सपा नेता मनीष अग्रवाल को गिरफ्तार किया

बता दें कि लखनऊ पुलिस ने सपा के आईटी सेल प्रमुख मनीष अग्रवाल (Manish Agrawal) को गिरफ्तार किया है। मनीष अग्रवाल पर ट्विटर के जरिए कथित तौर पर अभद्र टिप्पणी करने का आरोप है। पुलिस ने सपा कार्यकर्ता मनीष के खिलाफ 3 मुकदमे दर्ज हैं। मनीष अग्रवाल की गिरफ्तारी के बाद समाजवादी पार्टी सड़क पर उतर आई है। इसकी जानकारी होते ही बड़ी संख्या में अखिलेश के अलावा सपा के कार्यकर्ता भी पुलिस मुख्यालय पहुंच गए और हंगामा शुरू कर दिया। अखिलेश यादव पुलिस मुख्यालय में अंदर मौजूद थे, तो बाहर कई सपा नेता धरने पर बैठे थे।

यह भी पढ़ें: EXCLUSIVE: Tunisha की मां वनिता शर्मा बोलीं; 'मैंने बेटी खोई है, शीजान को छोड़ने वाली नहीं हूं'

Advertisement

Published January 8th, 2023 at 14:24 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

2 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
7 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo