Advertisement

Updated April 2nd, 2024 at 16:00 IST

अंगदान रिश्वतखोरी का खेल, एंटी करप्शन ब्यूरो ने किया पर्दाफाश; जयपुर के अस्पताल के अधिकारी गिरफ्तार

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने बड़ा खुलासा करते हुए एक अंगदान मुहिम में चल रहे रिश्वत के खेल का पर्दाफाश किया है।

Reported by: Nidhi Mudgill
Arrest in organ transplant bribery
ऑर्गन ट्रांसप्लांट रिश्वत में गिरफ्तारी | Image:@ANI
Advertisement

Jaipur News: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने बड़ा खुलासा करते हुए एक अंगदान मुहिम में चल रहे रिश्वत के खेल का पर्दाफाश किया है। एक ओर अंगदान को लेकर कई सारे अस्पताल मुहिम चला रहे हैं, जिसके तहत किसी के द्वारा ऑर्गन दान करने पर उसका सही और जरूरतमंद शख्स को दिया जाना होता है। लेकिन राजस्थान की राजधानी जयपुर में अंगदान मुहिम में ही रिश्वत का खेल चल रहा था। जिसमें एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) ने एक अस्पताल के कई अधिकारियों को हिरासत में लिया है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो  (ACB) ने अंगदान के लिए एनओसी जारी करने के लिए 70,000 रुपये की रिश्वत मामले में एसएमएस अस्पताल (SMS Hospital) के सहायक प्रशासनिक अधिकारी, गौरव सिंह और दो निजी अस्पतालों के अंग दान कॉर्डिनेटर अनिल जोशी और विनोद को गिरफ्तार किया। 

Advertisement

70,000 हजार की रिश्वत लेते पकड़े गए थे 

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने पूरे मामले में सबसे पहले एसएमएस अस्पताल (SMS Hospital)  के सहायक प्रशासनिक अधिकारी और निजी अस्पताल के ऑर्गन ट्रांसप्लांट कोर्डिनेटर को 70,000 हजार की घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने इस बड़े रिश्वतखोरी वाले घिनौने खेल का खुलासा किया है। जिसमें एनओसी देने के नाम पर लाखों की रिश्वत ली जा रही थी।

यह भी पढ़ें : ये नई पारी की शुरुआत,अब मैं अपने लोगों के लिए काम कर पाउंगा-अरुण गोविल

Advertisement

ऑर्गन ट्रांसप्लांट करने वाले SMS अस्पताल का पर्दाफाश 

रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने के बाद पूरा मामला सामने आया। बताया जा रहा है कि राजस्थान में कुछ निजी अस्पताल है जो ऑर्गन ट्रांसप्लांट करने वाले और ऑर्गन ट्रांसप्लांट करने के लिए NOC के लिए राज्य लेवल कोर्डिनेशन सेंटर अस्पताल में चलाते हैं। इसी सेंटर में काम करने वाले डाक्टर की एक टीम होती है। बता दें जयपुर में अंगदान मुहिम में ही रिश्वत का खेल चल रहा था। जिसमें एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) ने SMS अस्पताल के कई अधिकारियों को हिरासत में लिया। 

Advertisement

यह भी पढ़ें : Arti Singh Wedding: 38 की उम्र में गोविंदा की भांजी लेंगी सात फेरे

Advertisement

Published April 2nd, 2024 at 12:46 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo