Advertisement

Updated April 2nd, 2024 at 13:37 IST

UP News: तंत्र-मंत्र का काम, महिला से नाजायज संबंध और कटी हुई लाश...महंत हत्याकांड में बड़ा खुलासा

यूपी की राजधानी लखनऊ से सटे सीतापुर में हुए महंत मनीराम दास हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है।

Reported by: Ankur Shrivastava
greater noida murder
greater noida murder | Image:representative
Advertisement

Sitapur News: यूपी की राजधानी लखनऊ से सटे सीतापुर में हुए महंत मनीराम दास हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने हत्या के आरोप में मां-बेटे को गिरफ्तार किया है। उनके पास से आलाकत्ल भी बरामद किया गया है। दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और बताया कि अवैध संबंधों  के चलते महंत मनीराम दास की हत्या की और शव बोरे में भरकर जंगल में फेंक दिया था।

आपको बता दें कि हरदोई के थाना बेनीगंज गांव गिरधरपुर निवासी महंत मनी रामदास 84 कोसी परिक्रमा में शामिल होने मिश्रिख आए थे। 25 मार्च को वह अचानक लापता हो गए थे। महंत के घर न पहुंचने पर 26 मार्च को भतीजे टाई ने कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इसी बीच 29 मार्च की शाम को सिधौली रोड परकेसरीपुर जाने वाले मार्ग पर झाड़ियों में पड़े एक बोरे में महंत मनीराम दास का शव बरामद हुआ था। उनके दोनों पैर कटे थे। शव से कुछ दूर एक पैर कटा पड़ा था।

Advertisement

कॉल डिटेल से खुला राज

पुलिस ने इस मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू। एएसपी दक्षिणी डॉ. प्रवीन रंजन सिंह ने बताया कि महंत के परिजनों से पूछताछ की तो मिश्रिख के भूड़पुरवा निवासी गंगादेई उर्फ छोटी बिटिया (50) पुत्र सोनू का नाम प्रकाश में आया। इसके बाद इन दोनों के कॉल डिटेल निकलवाए गए। पता चला कि महंत व गंगादेई की कई बार बात होती थी। इसके बाद इंस्पेक्टर शैलेंद्र श्रीवास्तव की टीम ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। 
               
महंत और गंगादेई में थी नजदीकियां

Advertisement

कॉल डिटेल की छानबीन के बाद पता चला कि महंत व गंगादेई में काफी नजदीकियां थीं। महंत का गंगादेई के घर भी आना-जाना था। बाद में पूछताछ में गंगादेई और सोनू ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया।

तांत्रिक का काम करता था, गंगादेई को लगा...

Advertisement

जांच में पता चला कि महंत झाड़-फूंक व तांत्रिक का भी काम करता था। करीब एक साल पहले गंगादेई की पुत्री कहीं चली गई थी। इसके अलावा सोनू की पत्नी भी घर से चली गई थी। इन सब बातों से गंगादेई को लगा कि महंत की वजह से उसका परिवार टूट रहा है।

इसी से आजिज आकर मां-बेटे ने महंत की हत्या कर दी। फिलहाल, पुलिस को आरोपी गंगादेई-सोनू को गिरफ्तार कर आला कत्ल बांका व हंसिया बरामद कर लिया है। साथ ही दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।      

Advertisement

इसे भी पढ़ें- बाल, नाखून और हड्डी...कब्र में 10 साल भी नहीं सड़ेगी मुख्‍तार की लाश, अफजाल ने बताया फ्यूचर प्‍लान          

Advertisement

Published April 2nd, 2024 at 13:37 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo