Advertisement
Whatsapp logo

Updated February 13th, 2024 at 16:01 IST

पश्चिम बंगाल के बिगड़े हालात! संदेशखाली में BJP कार्यकर्ताओं पर पुलिस का लाठीचार्ज

Sandeshkhali में बीजेपी कार्यकर्ताओं और बंगाल पुलिस के बीच जबरदस्त झड़प हुई।

Reported by: Digital Desk
Edited by: Sagar Singh
West Bengal Violent demonstration in Sandeshkhali
संदेशखाली में हिंसक प्रदर्शन | Image:PTI
Advertisement

North 24 Parganas: पश्चिम बंगाल पुलिस ने मंगलवार को बीजेपी नेतृत्व वाले एक प्रतिनिधिमंडल को संदेशखाली जाने से पहले ही रास्ते में रोक दिया। स्थानीय पुलिस ने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार (Sukanta Majumdar) और अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं को हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा करने नहीं जाने दिया। पुलिस के साथ झड़प के बाद कई बीजेपी कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है और वे घायल हो गए हैं।

सूत्रों के मुताबिक, पुलिस ने कई बीजेपी कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया है। पुलिस लाठीचार्ज में सुकांत मजूमदार का सुरक्षाकर्मी भी घायल है। पुलिस द्वारा बैरिकेडिंग किए जाने से संदेशखाली किले में तब्दील हो गया है। संदेशखाली में महिलाओं के यौन उत्पीड़न को लेकर बीजेपी कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।

Advertisement

ममता सरकार को हाई कोर्ट से झटका

इस बीच, पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को कलकत्ता हाई कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने संदेशखाली में धारा 144 के आदेश को रद्द कर दिया है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सहित कई बीजेपी नेताओं ने रिपब्लिक को बताया कि संदेशखली की भयावहता को फैलने से रोकने के लिए धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की गई थी।

बता दें, लापता TMC नेता शाहजहां शेख और उनके सहयोगियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर क्षेत्रीय तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ स्थानीय लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। स्थानीय लोगों का यह  विरोध पिछले 8 दिन से जारी है।

Advertisement

TMC नेता पर क्या है आरोप?

संदेशखालि में महिलाएं तृणमूल कांग्रेस के नेता शाहजहां शेख और उनके सहयोगियों द्वारा किए गए कथित अत्याचारों को लेकर पिछले कुछ दिनों से आंदोलन कर रही हैं। प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि शाहजहां शेख और उनके साथियों ने क्षेत्र में महिलाओं का यौन उत्पीड़न किया और जमीन के बड़े हिस्से पर बलपूर्वक कब्जा कर लिया है। शेख पिछले महीने राशन घोटाले की जांच के सिलसिले में संदेशखालि में उनके घर पर छापा मारने गई ED की टीम पर भीड़ द्वारा किए गए हमले के बाद से फरार है।

Advertisement

इससे पहले पश्चिम बंगाल महिला आयोग के एक दल ने संदेशखालि के प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया थी। महिलाओं ने तृणमूल कांग्रेस के फरार नेता शाहजहां शेख और उसके समर्थकों पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। आयोग की अध्यक्ष लीना गंगोपाध्याय और एक अन्य महिला सदस्य ने संदेशखालि में अनेक महिलाओं से बातचीत की। राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी पश्चिम बंगाल सरकार को पत्र लिखकर संदेशखालि में लग रहे आरोपों पर 48 घंटे के अंदर रिपोर्ट देने को कहा था।

ये भी पढ़ें: SC पहुंची NCP की लड़ाई, अजित गुट को असली एनसीपी की मान्यता देने के खिलाफ शरद गुट की याचिका दाखिल

Advertisement

Published February 13th, 2024 at 15:36 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement
Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement