Advertisement

Updated April 4th, 2024 at 12:39 IST

कर्नाटक के एक गांव में बोरवेल में गिरे दो साल के बच्चे को बचाने के प्रयास जारी

कर्नाटक के विजयापुर जिले के इंडी तालुका के लाचयान गांव में बोरवेल में गिरे दो साल के बच्चे को बचाने के प्रयास जारी हैं। पुलिस ने यह जानकारी दी।

Edited by: Kanak Kumari
borewell representational
बोरवेल में गिरा बच्चा | Image:ani
Advertisement

कर्नाटक के विजयापुर जिले के इंडी तालुका के लाचयान गांव में बोरवेल में गिरे दो साल के बच्चे को बचाने के प्रयास जारी हैं। पुलिस ने यह जानकारी दी।

पुलिस के मुताबिक, स्थिति का विश्लेषण करने के लिए बोरवेल में कैमरा डाला गया है जिसकी फुटेज में सात्विक सतीश मुजागोंड अपने पैर हिलाते दिख रहा है। एक पाइपलाइन के माध्यम से ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है ताकि बच्चा सांस ले सके।

Advertisement

उन्होंने बताया कि बुधवार शाम से ही बचाव कार्य पूरी रफ्तार से जारी है। पुलिस ने बताया बच्चा लगभग 16 फुट गहरे बोरवेल में गिरा है। समझा जाता है कि वह सिर के बल गिरा है।

बच्चे को निकालने के लिए खुदाई मशीन का इस्तेमाल कर बोरबेल के समानांतर 21 फुट गहरा गड्ढा खोदा गया है।

Advertisement

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “ बचाव अभियान बुधवार शाम साढ़े छह बजे शुरू किया गया और यह जारी है। बच्चे को निकालने के सभी प्रयास किए जा रहे हैं।”

उन्होंने कहा, ‘‘ हम कैमरे के माध्यम से उसके पैर की हरकत देख सकते हैं और पाइपलाइन के माध्यम से ऑक्सीजन की आपूर्ति भी की जा रही है। हमने बोरवेल के समानांतर एक गड्ढा खोदा है और उम्मीद कर रहे हैं कि कुछ घंटों के भीतर हम बच्चे को बचा लेंगे।”

Advertisement

ऑक्सीजन से लैस एक टीम मौके पर तैनात है। बच्चे को निकालने के तुरंत बाद इंडी के एक अस्पताल में उसे ले जाने के लिए एक एम्बुलेंस को भी तैयार रखा गया है।

अधिकारियों के मुताबिक, अगर जरूरत पड़ी तो बच्चे को उच्च चिकित्सा देखभाल केंद्र में स्थानांतरित किया जाएगा।

Advertisement

बच्चे की मां पूजा ने कहा, ‘‘मेरे बच्चे को खाना खाए 12 घंटे से ज्यादा हो गए हैं... मेरा बच्चा सुरक्षित बाहर आ जाए, यही काफी है।’’

पुलिस ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और राज्य आपदा मोचन बल के कर्मी भी बचाव अभियान में शामिल हैं।

Advertisement

पुलिस के मुताबिक, बच्चा अपने घर के पास खेलने के लिए निकला था लेकिन बोरवेल में गिर गया। मामला तब सामने आया जब किसी ने बच्चे के रोने की आवाज सुनी और तुरंत परिवार को सूचित किया।

मौके पर आसपास सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण जुट गए हैं।

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published April 4th, 2024 at 12:39 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo