Advertisement
Whatsapp logo

Updated February 12th, 2024 at 19:25 IST

Jharkhand: पूर्व सीएम हेमंत सोरेन की बढ़ीं मुश्किलें, PMLA कोर्ट ने 3 दिन बढ़ाई ED की हिरासत

Jharkhand News : कोर्ट ने कथित जमीन घोटाले से जुड़े मामले में पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की ED की हिरासत 3 दिन के लिए बढ़ा दी है।

Reported by: Digital Desk
Edited by: Sagar Singh
former CM Hemant Soren
PMLA कोर्ट ने 3 दिन बढ़ाई हेमंत सोरेन की हिरासत | Image:PTI
Advertisement

Jharkhand News : झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को विशेष धनशोधन निवारण अधिनियम (PMLA) अदालत से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने कथित जमीन घोटाले से जुड़े धनशोधन (Money Laundering) मामले में पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की प्रवर्तन निदेशालय (ED) की हिरासत सोमवार को तीन दिन के लिए बढ़ा दी। ED ने झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) नेता की चार दिनों की हिरासत मांगी थी।

हेमंत सोरेन की ओर से पेश एडवोकेट जनरल राजीव रंजन ने कहा, 'ED चार दिन की हिरासत मांग रही थी। उनके पास आगे की हिरासत के लिए कोई आधार नहीं बचा है। वे सिर्फ समय टालना चाहते हैं, उनके पास कोई नया आधार नहीं है। वे बस चाहते हैं कि मामले को जारी रखा जाए और हिरासत अवधि बढ़ाई जाए।' इससे पहले JMM के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन सात फरवरी को विशेष पीएमएलए अदालत ने पांच दिन के लिए ईडी हिरासत में भेज दिया था।

Advertisement

31 जनवरी को हुई थी गिरफ्तार

इससे पहले दो फरवरी को भी अदालत ने सोरेन को पांच दिन की हिरासत में ED को सौंपा था। सोरेन के वकील राजन ने कहा, 'हमने ईडी के अनुरोध पर आपत्ति जताई, क्योंकि आगे हिरासत की जरूरत नहीं है।' उन्होंने सात फरवरी को कहा था कि केंद्रीय एजेंसी पहले ही सोरेन से 120 घंटे तक पूछताछ कर चुकी है। पीएमएलए अदालत पहुंचने पर सोरेन ने अपने समर्थकों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया और 'हेमंत सोरेन जिंदाबाद' के जमकर नारे लगे। धनशोधन मामले में केंद्रीय एजेंसी द्वारा सात घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें 31 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था। उससे पहले उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

Advertisement

ईडी के खिलाफ याचिका पर 27 फरवरी को सुनवाई

झारखंड उच्च न्यायालय ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) के खिलाफ उस याचिका पर सुनवाई सोमवार को 27 फरवरी तक के लिए स्थगित कर दिया, जो गिरफ्तार पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दायर की है। अदालत 27 फरवरी को फिर से याचिका पर सुनवाई करेगी। अदालत ने संघीय एजेंसी से एक समेकित हलफनामा भी दाखिल करने को कहा।

Advertisement

एडवोकेट जनरल राजीव रंजन ने कहा कि उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी को चुनौती दी थी और उच्च न्यायालय ने उनके संशोधित आवेदन को जमा किये जाने की अनुमति दे दी। सोरेन के वकील रंजन ने कहा, 'ईडी को समेकित जवाब देने का निर्देश दिया गया है। अदालत ने अंतिम निस्तारण के लिए 27 फरवरी की तारीख तय की है। हमारे आवेदन के संशोधन की अनुमति दी गई है। यह अच्छा संकेत है। अब हम अदालत के समक्ष सारे तथ्य रख सकते हैं।'

(भाषा इनपुट के साथ रिपब्लिक भारत डेस्क)

Advertisement

ये भी पढ़ें: 'तोड़ने के लिए 10-10 करोड़ का ऑफर दे रह था', JDU MLA के दावे के बाद बिहार में सियासी भूचाल, FIR दर्ज

Advertisement

Published February 12th, 2024 at 19:25 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement
Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement