Updated May 16th, 2024 at 22:23 IST

JDS विधायक एच डी रेवन्ना को यौन उत्पीड़न मामले में मिली अंतरिम जमानत, शुक्रवार को फिर होगी सुनवाई

Revanna के अधिवक्ताओं ने मामले में अग्रिम जमानत का अनुरोध किया और एसआईटी ने इस पर आपत्ति जताई थी।

एच डी रेवन्ना | Image:H D Revanna
Advertisement

H D Revanna got Interim Bail: राज्य राजधानी की एक अदालत ने बृहस्पतिवार को जद (एस) विधायक एवं कर्नाटक के पूर्व मंत्री एच. डी. रेवन्ना को यौन उत्पीड़न मामले में अंतरिम जमानत दे दी। रेवन्ना और उनके बेटे एवं सांसद प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ 28 अप्रैल को हासन जिले के होलेनरसीपुर टाउन पुलिस थाने में 47 वर्षीय एक घरेलू सहायिका के यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज किया गया था।

ऐसा बताया जाता है कि प्रज्वल 27 अप्रैल को जर्मनी रवाना हो गये थे और वह अभी भी इस मामले में पेश नहीं हुए हैं।

Advertisement

शिकायतकर्ता ने दावा किया था कि 66 वर्षीय विधायक के घर पर पिता-पुत्र ने उसका कथित तौर पर यौन शोषण किया था। प्रज्वल के खिलाफ यौन शोषण के आरोपों और संबंधित मामलों की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने पूर्व मंत्री को हिरासत में दिये जाने का अनुरोध किया था। रेवन्ना के अधिवक्ताओं ने मामले में अग्रिम जमानत का अनुरोध किया।

शुक्रवार को फिर होगी सुनवाई

हालांकि, 42वें अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अदालत (एसीएमएम) ने मामले की सुनवाई की और रेवन्ना को शुक्रवार तक अंतरिम राहत दी। एसआईटी ने जद (एस) के संरक्षक एवं पूर्व प्रधानमंत्री एच. डी. देवेगौड़ा के बेटे रेवन्ना और प्रज्वल को जांच में शामिल होने के लिए दो नोटिस भेजे थे, लेकिन दोनों इसमें शामिल नहीं हुए।

SIT ने जताई थी आपत्ति

रेवन्ना ने बृहस्पतिवार को अग्रिम जमानत के लिए आवेदन किया था और एसआईटी ने इस पर आपत्ति जताई थी और उनकी हिरासत या उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजे जाने का अनुरोध किया था। अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद शुक्रवार को मामले की दोबारा सुनवाई करने का फैसला किया और तब तक रेवन्ना को राहत दे दी।

निर्वाचित प्रतिनिधियों के लिए यहां की एक विशेष अदालत ने अपहरण के एक मामले में जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) के नेता रेवन्ना की जमानत याचिका सोमवार को मंजूर कर ली थी। इसके बाद रेवन्ना को जेल से रिहा कर दिया गया था।

Advertisement

चार मई को किया था गिरफ्तार

पूर्व मंत्री रेवन्ना (66) को एसआईटी ने एक महिला के कथित अपहरण के मामले में चार मई को गिरफ्तार किया था। अपहरण का यह मामला उनके बेटे और हासन से सांसद प्रज्वल रेवन्ना द्वारा महिलाओं का यौन शोषण किए जाने के आरोपों से जुड़ा है।

Advertisement

हासन से मौजूदा सांसद प्रज्वल रेवन्ना (33) देवेगौड़ा के पोते हैं। प्रज्वल महिलाओं के यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे हैं। इस मामले ने राजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया है और राज्य की सत्तारूढ़ कांग्रेस और भाजपा (भारतीय जनता पार्टी)-जद(एस) के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया है।

ऐसा बताया जा रहा है कि हासन सीट से भाजपा-जद (एस) के संयुक्त उम्मीदवार प्रज्वल कर्नाटक में लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के एक दिन बाद 27 अप्रैल को विदेश चले गए थे। उन्हें वापस लाने के लिए उनके खिलाफ ‘‘इंटरपोल ब्लू कॉर्नर’’ नोटिस जारी किया गया है।

Advertisement

यह भी पढ़ें: 'स्वाति मालीवाल को सुनीता केजरीवाल ने पिटवाया', BJP नेता का सनसनीखेज दावा; बताया क्यों…

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published May 16th, 2024 at 22:23 IST

Whatsapp logo