score-card
Advertisement

Published 17:29 IST, July 10th 2024

3 महीने पहले गूंजी थी किलकारियां, वहां शहीद की उठी अर्थी, बेटियों ने दिया कंधा तो हर आंखें हो गईं नम

शहीद विनोद सिंह भंडारी अपने पिता के इकलौते बेटे थे जिसकी वजह से उनकी बहनों ने उन्हें अंतिम विदायी के समय कांधा दिया।

Reported by: Ravindra Singh
Follow: Google News Icon
  • share
Martyr's Father give Last Rituals
शहीद बेटे को अंतिम विदायी देते पिता | Image: Republic
  • Listen to this article
  • 3 min read
Advertisement

17:21 IST, July 10th 2024