Advertisement

Updated March 31st, 2024 at 23:35 IST

पश्चिम बंगाल में आंधी-तूफान से 4 लोगों की मौत, 100 घायल; घरों, इमारतों और फसलों को भारी नुकसान

राज्यपाल सी.वी आनंद बोस प्रभावित इलाकों का दौरा करने के लिए सोमवार को जलपाईगुड़ी रवाना होंगे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने निर्धारित कार्यक्रम रद्द कर दिए है

Reported by: Digital Desk
Edited by: Sagar Singh
West Bengal storm
पश्चिम बंगाल में आंधी-तूफान से 4 लोगों की मौत | Image:PTI
Advertisement

पश्चिम बंगाल के उत्तरी हिस्से में स्थित जलपाईगुड़ी जिले के कुछ हिस्सों में ‘अचानक’ आए तूफान की चपेट में आने से चार लोगों की मौत हो गई जबकि 100 से अधिक लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि जिला मुख्यालय शहर के अधिकांश हिस्सों और पड़ोसी मैनागुड़ी के कई इलाकों में ओलावृष्टि के साथ तेज हवाएं चलने से कई झोपड़ियां और मकान क्षतिग्रस्त हो गए, पेड़ उखड़ गए और बिजली के खंभे गिर गए।

उन्होंने बताया कि तूफान की वजह से राजारहाट, बार्निश, बकाली, जोरपाकड़ी, माधबडांगा और सप्तीबारी सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं एवं कई एकड़ क्षेत्र में लगी फसलों को नुकसान हुआ है। अधिकारियों ने बताया कि मृतकों की पहचान दिजेंद्र नारायण सरकार (52), अनिमा बर्मन (45), जगन रॉय (72) और समर रॉय (64) के रूप में की गई। जलपाईगुड़ी जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘ओलावृष्टि से कई पैदल यात्री घायल हो गए। आपदा प्रतिक्रिया दल को तैनात किया गया है और सहायता बूथ स्थापित किए गए हैं।’’

Advertisement

सीएम के निर्धारित कार्यक्रम रद्द 

धूपगुड़ी के विधायक निर्मल चंद्र रॉय ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि कई लोगों को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने निर्धारित कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं और रविवार को जलपाईगुड़ी जाएंगी।

Advertisement

राज्यपाल करेंगे प्रभावित इलाकों का दौरा 

राजभवन के अधिकारियों ने बताया कि राज्यपाल सी वी आनंद बोस भी प्रभावित इलाकों का दौरा करने के लिए सोमवार को जलपाईगुड़ी रवाना होंगे। उन्होंने बताया कि जलपाईगुड़ी की स्थिति से निपटने के लिए राजभवन में एक आपातकालीन प्रकोष्ठ स्थापित किया गया है। बनर्जी ने कहा कि नागरिक प्रशासन, पुलिस और आपदा प्रबंधन के कर्मियों को राहत कार्य के लिए तैनात किया गया है।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘यह जानकर दुख हुआ कि आज दोपहर अचानक भारी बारिश और तूफानी हवाओं ने जलपाईगुड़ी-मैनागुड़ी के कुछ इलाकों में आपदाएं ला दीं, जिसमें मानव जीवन की हानि हुई, चोटें आई, मकानक्षतिग्रस्त हुए, पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जिला प्रशासन मौत के मामले में परिजनों और घायलों को नियमों के अनुसार और एमसीसी (आदर्श आचार संहिता) का पालन करते हुए मुआवजा प्रदान करेगा।’’ एक आधिकारिक बयान के मुताबिक राज्यपाल बोस दिल्ली में आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के संपर्क में हैं। उन्होंने जलपाईगुड़ी में और सामग्री और मानवबल भेजने का अनुरोध किया है।

ये भी पढ़ें: मुंबई 26/11 हमले के नायक सदानंद वसंत बनें NIA प्रमुख, संभाला कार्यभार 

Advertisement

Published March 31st, 2024 at 23:35 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo