Advertisement
Whatsapp logo

Updated February 13th, 2024 at 17:03 IST

शंभू बॉर्डर पर ड्रोन से छोड़े आंसू गैस के गोले, सड़कों पर भारी जाम...Farmers Protest से सहमी दिल्ली

प्रदर्शनकारी किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हरियाणा-पंजाब शंभू सीमा पर आंसू गैस ड्रोन का इस्तेमाल किया।

Reported by: Rupam Kumari
Edited by: Rupam Kumari
Farmers Protest Delhi
Farmers Protest Delhi | Image:ANI
Advertisement

Farmers Protest: किसानों के दिल्ली कूच ऐलान का असर दिखना शुरू हो गया है। भारी संख्या में पंजाब हरियाणा से किसान दिल्ली की सीमा पर पहुंच गए हैं। आंदोलन को देखते हुए राजधानी की सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं। किसानों को बॉर्डर पर ही रोकने की कोशिश की जा रही है।


किसान नेताओं के आर-पार की जंग के ऐलान के बाद गाजीपुर, सिंघु, शंभू, टिकरी समेत सभी बॉर्डर को छावनी में बदल दिया गया है। पुलिस ने साफ कर दिया है कि किसी ने भी अगर उपद्रव की कोशिश की या कानून-व्यवस्था से छेड़छाड़ की तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। किसानों को दिल्ली में प्रवेश से रोकने के लिए बॉर्डर पर आंसू गैस छोड़े।

Advertisement

शंभू बॉर्डर पर आंसू गैस ड्रोन का इस्तेमाल

प्रदर्शनकारी किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हरियाणा-पंजाब शंभू सीमा पर आंसू गैस ड्रोन का इस्तेमाल किया। राजधानी में किसानों के प्रवेश को रोकने के लिए पुलिस ने शहर के सभी बॉर्डर को बंद कर दिया है तो  ट्रैक्टरों को रोकने के लिए  कील वाले फ्रेम, कंटीले तारों की फेंसिंग, और सड़कों पर सीमेंट के बोल्डर रखे गए हैं।

Advertisement

 DND पर लगा भारी जाम

वहीं, किसान की मार्च की वजह से शहर में भारी जाम लगना शुरू हो गया है। किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च की वजह से दिल्ली-नोएडा चिल्ला बॉर्डर पर यातायात बाधित रहा। भारी संख्या में गाड़ियां जाम में फंस गई। यही नजारा  DND पर देखने को मिला। दिल्ली-नोएडा को जोड़ने वाली फ्लाइओवर पर गाड़ियां रेंगते हुए नजर आई।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की एडवाइजरी 

किसानों के आंदोलन के देखते हुए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की ओर से भी एडवाइजरी जारी की गई है। एडवाइजरी के अनुसार, “NH-44 से होते हुए सोनीपत, पानीपत, करनाल आदि की ओर जाने वाली अंतरराज्यीय बसें आईएसबीटी से मजनू का टीला से सिग्नेचर ब्रिज से खजूरी चौक से लोनी बॉर्डर से खेकड़ा के रास्ते केएमपी तक जाएंगी।

Advertisement

NH-44 के माध्यम से सोनीपत, पानीपत, करनाल आदि की ओर जाने वाले भारी माल वाहनों (HGVs) को NH-44 (DSIIDC) चौराहे पर हरीश चंदर अस्पताल चौराहे से बवाना रोड क्रॉसिंग से बवाना चौक से बवाना-औचंदी रोड, औचंदी बॉर्डर से सैदपुर चौकी होते हुए केएमपी तक एग्जिट संख्या -2 लेने का सुझाव दिया गया है।”

यह भी पढ़ें: Farmers Protest ने दिल्ली की रफ्तार पर लगाई ब्रेक, कई मेट्रो स्टेशन बंद
 

Advertisement

Published February 13th, 2024 at 13:18 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement
Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement