Advertisement

Updated April 4th, 2024 at 16:17 IST

तेलंगाना में जंगली हाथी का आतंक, किसान की कुचलकर ली जान

तेलंगाना के कुमारम भीम आसिफाबाद जिले में कथित तौर पर जंगली हाथी के हमले में एक और किसान की मौत हो गई।

Reported by: Digital Desk
Edited by: Rupam Kumari
Watch This Amazing Video Of An Elephant Giving Birth In Kenya's Masai Mara
Watch This Amazing Video Of An Elephant Giving Birth In Kenya's Masai Mara | Image:X
Advertisement

तेलंगाना के कुमारम भीम आसिफाबाद जिले में कथित तौर पर जंगली हाथी के हमले में एक और किसान की मौत हो गई। वन विभाग के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।  एक दिन पहले जंगली हाथी ने एक किसान को कुचल दिया था। गुरुवार को किसान की मौत हो गई। 

एक दिन पहले जंगली हाथी ने एक किसान को कुचल दिया था। इस घटना में पड़ोसी महाराष्ट्र से एक जंगली हाथी प्राणहिता नदी पार करके तेलंगाना में घुसा और कुमारम भीम आसिफाबाद जिले के बाहरी इलाके में स्थित एक गांव बूरेपल्ली में खेत में काम कर रहे किसान पर कथित तौर पर हमला कर दिया।

Advertisement

अधिकारियों के मुताबिक, पहली बार कोई जंगली हाथी तेलंगाना में घुसा। उन्होंने कहा कि राज्य में पहले कोई जंगली हाथी नहीं था।अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार को जिले के कोंडापल्ली गांव के निकट एक व्यक्ति के खेत में सुबह करीब पांच से छह बजे के बीच इसी तरह की घटना हुई और हाथी को भगाने के प्रयास जारी हैं।

अधिकारियों ने इससे पहले कहा था कि जंगली हाथी महाराष्ट्र में प्राणहिता नदी के दूसरी ओर घूम रहे 70-75 हाथियों में शामिल था। तेलंगाना वन विभाग के अधिकारी स्थिति पर नजर रख रहे हैं। वन अधिकारियों ने यह सुनिश्चित करने के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी है कि हाथी गांव में न घुसे।

Advertisement

उन्होंने बताया कि पटाखों के जरिए हाथी को भगाने की कोशिश की जा रही है। इस बीच, जिलाधारियों ने जिले के उन मंडलों और उनके आसपास दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू कर दी है, जहां हाथी घूमता हुआ पाया गया था। एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को यह जानकारी दी। सभी गांववालों को स्थिति काबू में आने तक घरों से न निकलने के लिए कहा गया है।

यह भी पढ़ें: Lucknow: हवाई अड्डे पर पकड़े गए 30 सोने

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published April 4th, 2024 at 16:17 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo