Advertisement

Updated April 3rd, 2024 at 16:28 IST

संजय सिंह के लिए क्यों कठिन है डगर चुनाव की? तिहाड़ से बाहर निकले भी तो ये शर्तें हैं मुंह बाएं खड़ी

संजय सिंह आज जमानत पर रिहा हो जाएंगे। किन शर्तों पर वो 6 महीने बाद बाहर आएंगे ये राउज एवेन्यू कोर्ट में तय हुआ है।

Reported by: Kiran Rai
 Liquorgate: Why Sanjay Singh's Bail May Provide No Relief For Arvind Kejriwal, Others
संजय सिंह का जमानती बॉन्ड | Image:ANI
Advertisement

Sanjay Singh Bail Bond:  आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह 6 महीने बाद आज जेल से बाहर आएंगे। सुप्रीम कोर्ट ने 2 अप्रैल को उन्हें दिल्ली शराब नीति केस में जमानत दी। कानूनी प्रक्रियाओं के चलते फैसले के दिन रिहाई नहीं हो पाई थी। 3 अप्रैल को उनकी पत्नी अनीता सिंह बेल फॉर्मेलिटी को पूरा करने के लिए राउज एवेन्यू कोर्ट पहुंच गईं।

नियमों के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट की ऑर्डर कॉपी पहले राउज एवेन्यू कोर्ट पहुंची जहां उनकी जमानत की शर्तें तय की गईं। यहां से कुछ डाक्यूमेंट्स तिहाड़ जेल अधीक्षक के पास भेजे जाएंगे। इसके बाद संजय सिंह रिहा होंगे।

Advertisement

क्या हैं शर्तें?

शर्तें जारी करने से पहले ईडी ने अपनी बात रखी और कहा कि हम केवल यह बताना चाहते हैं कि शर्त यह है कि वह दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति घोटाला मामले में अपनी भूमिका के बारे में प्रेस के साथ चर्चा नहीं करेंगे। वहीं सिंह के वकील ने कहा कि उनकी जमानतदार पत्नी अनिता सिंह हैं। वकील ने संजय सिंह की ओर से कहा - मैं एक सांसद हूं, मेरे भागने का खतरा भी नहीं है। 2 लाख का बेल बॉन्ड तय की गई है। 2 लाख के बेल बॉन्ड मे से एक लाख रुपए निजी मुचलका और एक लाख श्योरिटी शामिल है।

Advertisement

संजय सिंह के लिए ट्रायल कोर्ट द्वारा तय की गई जमानत की शर्तें:

Advertisement

1) जांच अधिकारी को अपना मोबाइल नंबर उपलब्ध कराएंगे, जांच में सहयोग भी करेंगे।

2) जैसा कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा, शराब मामले में अपनी भूमिका के संबंध में कोई टिप्पणी नहीं करेंगे।

Advertisement

3) संजय सिंह अगर वह दिल्ली- एनसीआर छोड़ते है तो वह अपनी यात्रा के कार्यक्रम आईओ (जांच अधिकारी) के साथ साझा करेंगे। वह अपनी लोकेशन शेयरिंग भी ऑन रखेगें और आईओ के साथ साझा करेंगे।

पत्नी ने बताया था पूरा रूटीन

इससे पहले संजय सिंह की पत्नी अनिता सिंह मीडिया के सामने आईं और पूरा रूटीन बताया था। अनीता सिंह ने बताया, "कल हमने संजय सिंह को अस्पताल में नियमित जांच के लिए भर्ती कराया था जहां हमें पता चला कि उन्हें बेल मिल गई है। आज वे करीब 12 बजे डिस्चार्ज होंगे उसके बाद वे तिहाड़ जाएंगे। वहां से फिर वे रिलिज होंगे उसके बाद हम मंदिर दर्शन के लिए जाएंगे और भगवान का शुक्रिया करेंगे....जबतक मेरे तीनों भाई(अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन) बाहर नहीं आते तबतक हमारे घर में कोई जश्न नहीं मनाया जाएगा।"

डगर मुश्किल क्यों?

संजय को जमानत मिल गई लेकिन आम आदमी पार्टी परिवार के मुखिया अभी तिहाड़ में हैं। राजनीतिक पार्टी के दिग्गज जेल में हैं और लोकसभा चुनाव सिर पर। सभी दिग्गज पार्टी के स्टार हैं। भ्रष्टाचार की आंच पार्टी पर पड़ गई है। भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन खड़ा करने वाली पार्टी सवालों में घिर गई है। संजय सिंह की सशर्त रिहाई हो रही है। अड़चनें तमाम हैं। इन रुकावटों के बीच 19 अप्रैल से लोकतंत्र का महापर्व शुरू हो जाएगा और किंतु-परंतु के बीच देश भर में भ्रमण कर प्रचार टेढ़ी खीर साबित होगा। वो भी तब जब पार्टी के कंवीनर जेल में हों और सीएम पद को लेकर पशोपेश की स्थिति हो।

ये भी पढ़ें- दिल्ली के CM केजरीवाल की याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई, अमित शाह मुजफ्फरनगर में करेंगे चुनाव प्रचार

Advertisement

 

Advertisement

Published April 3rd, 2024 at 11:50 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo