Advertisement

Updated June 11th, 2024 at 19:25 IST

छत्तीसगढ़: बलौदाबाजार हिंसा मामले में अबतक 200 गिरफ्तार, 7 FIR; जांच में जुटी पुलिस

अधिकारियों को आगजनी में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

Balodabazar violence
Balodabazar violence | Image:X
Advertisement

छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिले में धार्मिक स्तंभ को नुकसान पहुंचाने के विरोध में सोमवार को सतनामी समाज के आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के बाद पुलिस ने इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज की है तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए 12 दलों का गठन किया है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उनके मुताबिक हिंसा में शामिल कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

धार्मिक स्तंभ 'जैतखाम' को नुकसान पहुंचाने के विरोध में सोमवार को सतनामी समाज ने आंदोलन किया था। विरोध प्रदर्शन के दौरान भीड़ ने सरकारी कार्यालयों, दो दर्जन कारों और 70 से अधिक दोपहिया वाहनों में आग लगा दी थी। अधिकारियों ने बताया कि हिंसा के दौरान पथराव में करीब 50 पुलिसकर्मी घायल हुए।

Advertisement

घटना के सिलसिले में सात मामले दर्ज - पुलिस अधीक्षक

बलौदाबाजार-भाटापारा के पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार ने बताया, ''हमने सोमवार की घटना के सिलसिले में सात मामले दर्ज किए हैं। पुलिस की 12 टीम गठित की गई हैं, जिन्हें आगजनी में शामिल लोगों का पता लगाने के लिए अलग-अलग स्थानों पर भेजा गया है।"

Advertisement

कुमार ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज, विरोध प्रदर्शन की वीडियोग्राफी और मीडियाकर्मियों सहित विभिन्न स्रोतों से प्राप्त वीडियो फुटेज के आधार पर मुख्य आरोपी और अन्य की पहचान की जा रही है।

आरोपियों को पकड़ने के लिए पड़ोसी जिलों की पुलिस से संपर्क

Advertisement

उन्होंने कहा, "हम आरोपियों को पकड़ने के लिए पड़ोसी और अन्य जिलों के पुलिस अधीक्षकों के संपर्क में हैं। कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है और कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद इस संबंध में विवरण दिया जाएगा।"

उन्होंने कहा कि आगजनी में चार पहिया और दोपहिया वाहनों सहित 100 से अधिक वाहन क्षतिग्रस्त हो गए तथा कुल नुकसान का आकलन करने के लिए एक दल का गठन किया गया है।

Advertisement

कुमार ने कहा कि लगभग 45-50 पुलिस कर्मियों को चोटें आई हैं और उनमें से एक की हालत गंभीर बताई गई है। उन्होंने बताया कि उन्हें पड़ोसी बिलासपुर जिले के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अब तक लगभग दो सौ लोगों को गिरफ्तारी- जिलाधिकारी

Advertisement

संवाददाताओं से बात करते हुए जिलाधिकारी के एल चौहान ने बताया कि उनकी जानकारी के अनुसार अब तक लगभग दो सौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है तथा आरोपियों का पता लगाने के लिए कार्रवाई जारी है। उन्होंने बताया कि आगजनी में सरकारी संपत्ति और निजी वाहनों को हुए नुकसान का आकलन करने के लिए एक टीम गठित की गई है।

इस वर्ष 15 और 16 मई की रात को जिले के गिरौदपुरी धाम में पवित्र अमर गुफा के करीब सतनामी समुदाय द्वारा पूजे जाने वाले पवित्र प्रतीक 'जैतखाम' या 'विजय स्तंभ' को अज्ञात लोगों ने तोड़ दिया था।

Advertisement

पुलिस ने बाद में इस घटना के सिलसिले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। घटना के विरोध में सतनामी समाज ने सोमवार को यहां दशहरा मैदान में प्रदर्शन करने और जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव करने का आह्वान किया था।

बलौदाबाजार-भाटापारा में धारा 144 लागू

Advertisement

विरोध प्रदर्शन के दौरान आगजनी और पथराव होने के बाद बलौदाबाजार-भाटापारा जिला प्रशासन ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लगा दी है, जिसके तहत 16 जून तक बलौदाबाजार शहर में चार या उससे अधिक लोगों के एकत्र होने पर रोक लगा दी गई है।

स्थिति का जायजा लेने के लिए उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा राजस्व मंत्री टंक राम वर्मा और खाद्य मंत्री दयालदास बघेल के साथ मंगलवार तड़के जिला कार्यालय पहुंचे। शर्मा के पास गृह विभाग का प्रभार है।

Advertisement

आगजनी में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश

संवाददाताओं से बात करते हुए शर्मा ने घटना पर दुख जताया। उन्होंने अधिकारियों को आगजनी में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया। विरोध स्थल की तस्वीरों में आगजनी के कारण कई मोटरसाइकिल और कारें तथा जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के कार्यालय वाली इमारत क्षतिग्रस्त दिख रही हैं। पुलिस के साथ झड़प करते हुए भीड़ ने दो दमकल वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया।

Advertisement

छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध संत बाबा घासीदास ने सतनाम पंथ की स्थापना की थी। राज्य की अनुसूचित जातियों में बड़ी संख्या सतनामी समाज के लोगों की है तथा यह समाज यहां के प्रभावशाली समाजों में से एक है।

इसे भी पढ़ें : भीषण गर्मी और जल संकट के बीच दिल्ली में बिजली गुल

Advertisement

Published June 11th, 2024 at 19:07 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo