Advertisement

Updated May 28th, 2024 at 10:39 IST

बलि चढ़ाओ...गूंजती थी 'आवाजें', आंगन में पिता ने पहले काटा मुर्गा फिर 4 साल के बेटे का किया सिर कलम

छत्तीसगढ़ में एक ऐसी वारदात सामने आई है जिसे जानकर रूह कांप जाएगी। इंसानियत भी फंदे से लटकर कर खुदकुशी कर लेगी।

Reported by: Ankur Shrivastava
बलि चढ़ाओ...गूंजती थी 'आवाजें', आंगन में पिता ने पहले काटा मुर्गा फिर 4 साल के बेटे का किया सिर कलम
बलि चढ़ाओ...गूंजती थी 'आवाजें', आंगन में पिता ने पहले काटा मुर्गा फिर 4 साल के बेटे का किया सिर कलम | Image:Pixabay
Advertisement

Chhattisgarh Human Sacrifice: छत्तीसगढ़ में एक ऐसी वारदात सामने आई है जिसे जानकर रूह कांप जाएगी। इंसानियत भी फंदे से लटकर कर खुदकुशी कर लेगी। आप सोच में पड़ जाएंगे कि कोई ऐसा कैसे कर सकता है? यहां के आदिवासी बहुल जनपद बलरामपुर में एक वहशी पिता ने अपने ही जिगर के टुकड़े का गला काट दिया। ऐसे इसलिए क्योंकि उसे बलि चढ़ाओ की 'आवाजें' आती थीं।

हालांकि अब आरोपी पिता को मानसिक विखिप्त बताया जा रहा है। पुलिस इस सनस‍नीखेज मामले की हर पहलू से जांच कर रही है। पुलिसे ने पिता को गिरफ्तार कर लिया है जिसकी पहचान कमलेश नगेशिया (26) के रूप में हुई है।

Advertisement

कानों में अजीब आवाजें आ रही हैं, कह रही हैं बलि चढ़ाओ

पीटीआई की खबर के मुताबिक  कमलेश के परिजनों ने जानकारी दी कि बीते शनिवार को वो अचानक पागलों की तरह हरकत करने लगा। पुलिस ने बताया कि वह परिवार के सदस्यों से कहने लगा कि उसके कानों में अजीब सी आवाज सुनाई दे रही है और उसे किसी की बलि चढ़ाने के लिए कहा जा रहा है।

Advertisement

पुलिस के मुताबिक परिजनों ने कमलेश की बातों पर ध्यान नहीं दिया और रात में भोजन के बाद सभी सोने चले गए और कमलेश की पत्नी भी अपने दो बेटों को लेकर अपने कमरे में सोने चली गई।

पहले मुर्गे का गला काटा फिर किया बेटे का सिर कलम

Advertisement

पुलिस के मुताबिक रात में कमलेश अचानक उठा और उसने घर के आंगन में एक मुर्गे का गला रेत दिया। अपने बड़े बेटे अविनाश (4  साल) को उठाकर आंगन में ले आया और गला रेतकर उसकी हत्या कर दी। परिवार के सदस्यों को पता चला तो उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को दी। बाद में पुलिस ने कमलेश को पकड़ लिया और बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

इसे भी पढ़ें- 46 डिग्री तापमान में चारो तरफ आग जलाकर तपस्या कर रहे थे 'कमली वाले पागल बाबा', मौत

Advertisement

Published May 28th, 2024 at 10:03 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo