Advertisement

Updated April 3rd, 2024 at 10:41 IST

'अगर चीन ने 30 जगहों का नाम बदला तो हमें 60 का बदल...', हिमंता बोले-चीन पर 'जैसे को तैसा' की नीति

ड्रैगन की हिमाकत पर असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने रिएक्ट किया है। उन्होंने टिट फॉर टैट के मंत्र पर काम करने की सलाह दी है।

Reported by: Kiran Rai
himanta biswa sarma during campaign
चुनाव प्रचार के दौरान हिमंता | Image:x/@himantabiswa
Advertisement

Arunachal Pradesh Row: हिमंता बिस्वा सरमा ने असम में चुनाव प्रचार के दौरान मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि चीन पर भारत को जैसे को तैसा वाली नीति पर काम करना चाहिए।

हाल ही में चीन ने अरुणाचल के 30 जगहों के नए नाम की लिस्ट जारी की। भारत ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई। विदेश मंत्रालय ने कहा,नए नाम रखने से सच नहीं बदल जाएगा और यह हमेशा भारत का अभिन्न हिस्सा रहेगा।

Advertisement

सरमा का सुझाव- 30 के बदले 60 पर भारत लगाए दांव

सरमा ने सुझाव दिया कि भारत को जवाब में ‘चीन के तिब्बती क्षेत्रों’ के 60 अपने नाम जारी करने चाहिए। बोले- मेरी भारत सरकार से गुजारिश है कि हमें चीन के तिब्बती क्षेत्रों को 60 भौगोलिक नाम देने चाहिए...हमेशा जैसे को तैसा के आधार पर जवाब दिया जाना चाहिए। ’’ 
फैसला नीतिगत,लेकिन...

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मैं इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहता क्योंकि यह भारत सरकार का नीतिगत फैसला है...लेकिन अगर वे 30 नाम रखते हैं तो हमे 60 नाम रखने चाहिए।’’

चीन की हिमाकत भर भारत का वार

चीन ने अरुणाचल प्रदेश पर अपने दावे को जताने की कोशिश करते हुए राज्य के विभिन्न स्थानों के 30 नए नामों की चौथी सूची जारी की थी। विदेश मंत्रालय ने चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश के स्थानों को नए सिरे से नाम रखने को खारिज करते हुए कहा- नए नाम गढ़ने से राज्य की सच्चाई नहीं बदल जाएगी और ये हमेशा भारत का अभिन्न और अखंड हिस्सा रहेगा।

Advertisement

विदेश मंदिर ने लगाई फटकार

इससे पहले केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को चीन की फटकार लगाई थी। उन्होंने कहा था- अगर आज मैं आपके घर का नाम बदल दूं तब क्या वह मेरा हो जाएगा क्या? अरुणाचल प्रदेश भारत का राज्य था, है और रहेगा... नाम बदल देने से कुछ नहीं होता है और न ही इससे कोई प्रभाव पड़ता है। आप सब जानते हैं कि हमारी सेना वहां (एलएसी पर) तैनात है। सेना के लोग जानते हैं कि उन्हें वहां क्या करना है।

Advertisement

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने चीन के इस कदम की निंदा की थी. रिजिजू ने कहा, चीन तमाम बेबुनियाद दावे करता रहता है लेकिन इससे जमीनी हकीकत और ऐतिहासिक तथ्य नहीं बदलेंगे।

ये भी पढ़ें- 'अरविंद केजरीवाल को बचाने के लिए बलि का बकरा ढूंढती है AAP', आतिशी के बयान पर BJP का पलटवार

Advertisement

Published April 3rd, 2024 at 08:30 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo