Advertisement

Updated June 10th, 2024 at 22:52 IST

जम्मू-कश्मीर चुनाव पर उमर अब्दुल्ला का बड़ा बयान, मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा; पार्टी का प्रचार करुंगा

नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के नेता उमर अब्दुल्ला ने सोमवार को आगामी जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव लड़ने की संभावना से इनकार किया।

Omar Abdullah
उमर अब्दुल्ला | Image:PTI
Advertisement

नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के नेता उमर अब्दुल्ला ने सोमवार को आगामी जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव लड़ने की संभावना से इनकार किया, लेकिन कहा कि वह चुनाव के लिए अपनी पार्टी के प्रचार अभियान का नेतृत्व करेंगे।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह केंद्र शासित प्रदेश की विधानसभा में प्रवेश करके खुद को ‘‘अपमानित’’ नहीं करेंगे।
जेल में बंद उम्मीदवार शेख अब्दुल रशीद उर्फ ​​इंजीनियर रशीद से बारामूला में लोकसभा चुनाव में मिली हार पर अब्दुल्ला ने कहा कि चुनावी राजनीति में हार के लिए भी तैयार रहना पड़ता है।

Advertisement

अपनी पार्टी के प्रचार अभियान का नेतृत्व करुंगा- उमर अब्दुल्ला

उमर ने ‘पीटीआई-भाषा’ के साथ एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘अगर आप इस तथ्य को अलग रखें कि मैं हार गया, तो कुल मिलाकर मुझे लगता है कि नेकां के पास संतुष्ट होने के लिए बहुत कुछ है... जहां तक मेरी अपनी सीट का सवाल है, मैं निराश होने के अलावा और क्या कर सकता हूं, लेकिन यह चुनावी राजनीति है। अगर आप हारने के लिए तैयार नहीं हैं, तो आपको अपना पर्चा दाखिल नहीं करना चाहिए। मैं यह नहीं कह सकता कि परिणाम उम्मीदों के अनुसार था।’’

Advertisement

नेकां नेता ने कहा कि वह जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पार्टी के प्रचार अभियान का नेतृत्व करेंगे।

मैं हमारे राज्य का दर्जा वापस पाने के लिए लड़ूंगा- उमर

Advertisement

उमर ने कहा, ‘‘मैं हमारे राज्य का दर्जा वापस पाने के लिए लड़ूंगा। मैं जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल किए जाने के लिए लड़ूंगा। फिर, अगर संभव हुआ तो मैं विधानसभा में प्रवेश करने और वहां अपनी भूमिका निभाने का अवसर तलाशूंगा। लेकिन, मैं केंद्र शासित प्रदेश की विधानसभा में प्रवेश करके खुद को अपमानित नहीं करूंगा।’’

वर्ष 2019 में, केंद्र ने तत्कालीन जम्मू और कश्मीर राज्य को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त कर दिया और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों - जम्मू-कश्मीर और लद्दाख - में विभाजित कर दिया था।

Advertisement

इसे भी पढ़ें : मोदी 3.O का पहला फैसला, PM आवास के तहत बनेंगे 3 करोड़ नए घर

Advertisement

Published June 10th, 2024 at 22:38 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

3 घंटे पहलेे
1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo