Advertisement

Updated April 3rd, 2024 at 21:10 IST

'दिल्ली में साथ पंजाब में अलग लड़ाई, चोर-चोर मौसेरे भाई',अनुराग ठाकुर ने इंडी पर उठाए सवाल

'दिल्ली में साथ पंजाब में अलग लड़ाई, चोर-चोर मौसेरे भाई' कह केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने इंडी पर उठाए सवाल हैं।

Reported by: Kiran Rai
Anurag Thakur
ऊना से हरिद्वार रेल सेवा को मंजूरी | Image:PTI
Advertisement

Anurag Thakur Breaking: 'दिल्ली में साथ पंजाब में अलग लड़ाई, चोर-चोर मौसेरे भाई', केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने इंडी पर सवाल उठाए हैं।  उन्होंने रिपब्लिक से एक्सक्लूसिव बातचीत में इंडी गठबंधन को कटघरे में खड़ा किया।  

उन्होंने कहा- दिल्ली में आपने झूठे वादे किया…स्वराज से शराब तक पहुंच गए। जिन पर आरोप लगाए आज उनके साथ…रामलीला मैदान में ही कांग्रेस के खिलाफ कहा। दो दिनों तक जेल में रखो सब राज खुल जाएंगे। आज उन्हीं के साथ लड़ रहे हैं। 

Advertisement

दिल्ली में साथ पंजाब में...

एक्जिक्यूटिव एडिटर ऐश्वर्या कपूर से बातचीत में  केंद्रीय मंत्री ने इंडी अलायंस में मतभेद की ओर इशारा किया।बोले-  पंजाब में भगवंत मान कांग्रेस का विरोध करते हैं लेकिन केंद्रीय स्तर पर आप और राहुल गांधी सहयोगी हैं। दूसरी ओर, ममता बंगाल में लेफ्ट और कांग्रेस को एक भी सीट नहीं देती हैं। लेकिन, वे केंद्रीय स्तर पर फिर से भागीदार हैं । 

Advertisement

 

संदेशखाली और सीएए पर रखी राय

संदेशखाली घटना पर भी मंत्री ने अफसोस जताया। उन्होंने कहा- इनके नेताओं पर आरोप लगते हैं। इनके नेता नजर आते हैं...देखिए जो इनके चेहरे, कारनामों को जान गए वो उनसे (टीएमसी) से अलग हो गए। वो नहीं सुनती थीं। हम पंडित नेहरू की तरह नहीं कर सकते जैसे ईस्ट पाकिस्तान के लिए उन्होंने किया..,.नेहरू जी की हिंदू शरणार्थियों के बारे में टिप्पणियां जताती थी कि वो घृणा करते थे.… लेकिन मोदी सरकार ने उनकी मदद की। (CAA पर) 2014 में जब आए मोदी जी कैंडिडेट के रूप में आए थे तो ये कहते थे मोदी आएगा तो मुस्लिम खत्म हो जाएगा...लेकिन हमने सबका हाथ, सबका विकास, सबका विश्वास पर यकीन रख आगे काम किया। आज अगर 4 करोड़ लोगों को पक्के मकान मिले ,12 करोड़ पक्के शौचालय बने, 13 करोड़ लोगों को घर पर जल मिला… 10 करोड़ बहनों को चूल्हा मिला...80 करोड़ लोगों को अन्न मिला...हमने सबको हक दिया…इसमें हमारे अनुसूचित और अल्पसंख्यक भाइयों को हक मिला। हमने भेद नही किया। ये भय और भ्रम का माहौल पैदा करते हैं।

Advertisement

पंडित नेहरू की टिप्पणी बेहद…

सीएए पर जवाब देते हुए उन्होंने कांग्रेस की रीति नीति कि बात की। बोले- 1962 में चुनाव के दौरान पंडित नेहरू ने वाराणसी में कहा था कि जब मैं संगमरमर देखता हूं तो मुझे शौचालय याद आते हैं, गुसलखाने याद आते हैं...जयपुर में भी यही कहा कि क्या जरूरत है इतने संगमरमर लगवाने की। सोच क्या थी...ताज महल तो संगमरमर का बना है...ये हिंदुओं को अपमानित करने से नहीं चूकते...जहां मौका लगता है इनके सहयोगी सनातन के विरोध में कुछ भी बोल देते हैं….आंदोलन चला देती है...वो नफरत आज राहुल गांधी में दिखती है...टुकड़े टुकड़े वालों को पार्टी में प्रवक्ता बनाते हैं।

ये भी पढ़ें- Delhi Liquor Scam: ED के वकीलों की लिस्ट में बांसुरी स्वराज के नाम पर AAP ने उठाए सवाल, मिला ये जवाब
 

Advertisement

Published April 3rd, 2024 at 13:57 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo