Advertisement

Updated June 10th, 2024 at 13:42 IST

स्मृति ईरानी, अनुराग ठाकुर ही नहीं... मोदी कैबिनेट 3.0 से 37 मंत्रियों का कटा पत्ता, कौन-कौन शामिल?

Cabinet: मोदी सरकार के दोनों कार्यकालों में स्मृति ईरानी कैबिनेट मंत्री रहीं। इस बार वह अमेठी से चुनाव हार गईं।

Modi Cabinet 3.0
मोदी कैबिनेट में इन नेताओं को नहीं मिली जगह | Image:PTI
Advertisement

Modi Cabinet 3.0: स्मृति ईरानी, अनुराग ठाकुर और नारायण राणे समेत पूर्ववर्ती सरकार के 37 मंत्रियों को रविवार को शपथ लेने वाली प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नयी मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं किया गया है। पुरुषोत्तम रुपाला, अर्जुन मुंडा, आर के सिंह और महेंद्र नाथ पांडे मोदी के दूसरे कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री थे लेकिन उन्हें नयी मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं किया गया।

तीनों स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्रियों को बरकरार रखा गया है जबकि पिछली सरकार के 42 राज्य मंत्रियों में से 30 को इस बार हटा दिया गया है।

Advertisement

इन दिग्गजों के नाम लिस्ट में शामिल

जिन नेताओं को मंत्रिपरिषद में दोबारा शामिल नहीं किया गया है, उनमें वी के सिंह, फग्गन सिंह कुलस्ते, अश्विनी चौबे, रावसाहेब दानवे, साध्वी निरंजन ज्योति, संजीव बालियान, राजीव चंद्रशेखर, सुभाष सरकार, निसिथ प्रमाणिक, राजकुमार रंजन सिंह और प्रतिमा भौमिक शामिल हैं।

Advertisement

मीनाक्षी लेखी, मुंजापारा महेंद्रभाई, अजय कुमार मिश्रा, कैलाश चौधरी, कपिल मोरेश्वर पाटिल, भारती प्रवीण पवार, कौशल किशोर, भगवंत खुबा और वी. मुरलीधरन को भी मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं किया गया है।

18 मंत्री हारे चुनाव

नयी मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं किए गए इन मंत्रियों में से 18 चुनाव हार गए हैं। एल. मुरुगन पिछली सरकार के एकमात्र ऐसे राज्य मंत्री हैं जो चुनाव हार गए थे लेकिन उन्हें बरकरार रखा गया है। वे पहले से ही राज्यसभा के सदस्य हैं।

दोनों कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री रहीं स्मृति ईरानी

मोदी सरकार के दोनों कार्यकालों में कैबिनेट मंत्री रहीं स्मृति ईरानी अमेठी से कांग्रेस नेता राहुल गांधी के सहयोगी किशोरी लाल शर्मा से 1.69 लाख से अधिक मतों के अंतर से चुनाव हार गईं। ईरानी पहले कार्यकाल में मानव संसाधन विकास मंत्री और कपड़ा मंत्री थीं जबकि मोदी के दूसरे कार्यकाल में उन्होंने महिला एवं बाल विकास और अल्पसंख्यक मामलों का विभाग संभाला था।

इन नेताओं को भी नहीं मिली जगह

पुरुषोत्तम रुपाला पिछली सरकार में मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मामलों के मंत्री थे। रुपाला ने गुजरात की राजकोट लोकसभा सीट से लगभग पांच लाख मतों के रिकॉर्ड अंतर से जीत दर्ज की। मत्स्य पालन मंत्रालय में उनके सहयोगी संजीव कुमार बालियान को भी हटा दिया गया है। मुजफ्फरनगर से दो बार सांसद रहे बालियान इस बार 24,000 से अधिक मतों से चुनाव हार गये थे।

हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र से लगातार पांचवीं बार जीतने वाले अनुराग ठाकुर ने मोदी के दूसरे कार्यकाल में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और युवा मामले एवं खेल मंत्रालय दोनों विभाग संभाले थे।

Advertisement

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री रहे नारायण राणे ने रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग लोकसभा सीट पर जीत दर्ज की है। यह पहली बार है जब भाजपा ने तटीय कोंकण क्षेत्र में संसदीय सीट जीती है यह शिवसेना (अविभाजित) का पारंपरिक गढ़ रहा है। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री राणे 2019 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हुए और उन्हें राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया। यह उनका पहला लोकसभा चुनाव था।

यह भी पढ़ें: UP-बिहार का दबदबा, महाराष्ट्र से 6 मंत्री...मोदी सरकार 3.0 में किस राज्य को मिला कितना प्रतिनिधित्व?

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published June 10th, 2024 at 11:59 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

2 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
7 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo