Advertisement

Updated June 6th, 2024 at 13:22 IST

'मुझे एक कमरे तक सीमित..', केरल में पहली बार कमल खिलाने वाले सुरेश गोपी बोले- नहीं बनना चाहता मंत्री

Suresh Gopi: इस बार के लोकसभा चुनाव में सुरेश गोपी ने केरल में BJP के लिए त्रिशूर सीट जीतकर इतिहास रच दिया है।

Suresh Gopi
सुरेश गोपी का बयान | Image:ANI
Advertisement

Kerala BJP: अभिनेता से नेता बने सुरेश गोपी ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह केंद्रीय मंत्री बनने के बारे में नहीं सोच रहे हैं, वह बस इतना चाहते हैं कि मंत्रालय केरल के लोगों के कल्याण के लिए उनके द्वारा प्रस्तावित परियोजनाओं को क्रियान्वित करें।

गोपी ने केरल में भाजपा के लिए त्रिशूर लोकसभा सीट जीतकर इतिहास रच दिया है। उन्होंने अनुरोध किया कि उन्हें एक मंत्रालय तक सीमित न रखा जाए, क्योंकि वह एक सांसद के रूप में लोगों के लिए मंत्री की तुलना में अधिक काम कर सकते हैं।

Advertisement

सुरेश गोपी ने क्या कहा? 

संवाददाताओं से जब उनसे पूछा कि वह किस मंत्रालय का नेतृत्व करना पसंद करेंगे तो उन्होंने कहा, 'कृपया मुझे एक कमरे तक सीमित न रखें। एक सांसद के रूप में मैं विभिन्न मंत्रालयों का काम कर सकता हूं। मैं मंत्री नहीं बनना चाहता। काम करने के नए क्रांतिकारी मंच हो सकते हैं।' उन्होंने आगे कहा, 'मैं बस इतना चाहता हूं कि जब मैं दृढ़ संकल्प के साथ केरल के लोगों के लिए कोई परियोजना लेकर जाऊं तो संबंधित मंत्रालय उसे लागू करें।'

Advertisement

गोपी ने यह भी कहा कि त्रिशूर से जीतने के कारण सांसद के रूप में उनका काम यहीं तक सीमित नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि वह केरल और पड़ोसी राज्य तमिलनाडु के लिए भी सांसद के रूप में काम करेंगे।

केरल में खिला कमल

त्रिशूर में भाजपा नेता की जीत सत्तारूढ़ माकपा नीत एलडीएफ और कांग्रेस नीत यूडीएफ के लिए करारा झटका है, जिन्होंने अंतिम क्षण तक विभिन्न एग्जिट पोल को खारिज किया था। इन एक्जिट पोल में गोपी की जीत और राज्य में कमल खिलने यानी भाजपा की जीत की संभावना जताई गई थी।

यह भी पढ़ें: मेरठ में रहकर काम करेंगे अरुण गोविल? सवाल पर जवाब देते हुए बोले- मैं गैर जिम्मेदार नहीं…

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published June 6th, 2024 at 13:22 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo