Advertisement

Updated June 5th, 2024 at 20:03 IST

शरद पवार ने दी भतीजे अजित को करारी मात, 8 सीट जीतने वाली राकांपा (एसपी) का स्ट्राइक रेट लाजवाब

2019 के चुनाव में महाराष्ट्र में केवल एक लोकसभा सीट जीतने वाली कांग्रेस ने शानदार वापसी करते हुए 17 में से 13 सीट जीती और पार्टी का स्ट्राइक रेट 75 प्रतिशत रहा।

Maharashtra Deputy CM Ajit Pawar with uncle Sharad Pawar
चाचा शरद पवार संग अजित पवार | Image: Facebook/Ajit Pawar (File pic)
Advertisement

NCP Vs NCP (SP): वरिष्ठ नेता शरद पवार जमीनी स्तर पर मूल राकांपा कार्यकर्ताओं का समर्थन बरकरार रखने में सफल रहे हैं और उनके नेतृत्व वाली राकांपा (एसपी) ने महाराष्ट्र में जिन 10 लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ा, उनमें से आठ पर जीत हासिल की और पार्टी का स्ट्राइक रेट 80 प्रतिशत रहा।

इसके विपरीत, उनके भतीजे और उपमुख्यमंत्री अजित पवार के नेतृत्व वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने चार सीट पर चुनाव लड़ा और मात्र एक पर ही जीत हासिल की, तथा उसका स्ट्राइक रेट 25 प्रतिशत रहा। दिलचस्प बात यह है कि 2019 के चुनाव में महाराष्ट्र में केवल एक लोकसभा सीट जीतने वाली कांग्रेस ने शानदार वापसी करते हुए 17 में से 13 सीट पर जीत हासिल की और पार्टी का स्ट्राइक रेट 75 प्रतिशत रहा।

Advertisement

उल्लेखनीय है कि राकांपा (एसपी) ने अधिकांश सीटें पश्चिमी महाराष्ट्र से जीतीं हैं, जो पवार का पारंपरिक गढ़ है। अजित पवार के नेतृत्व वाली राकांपा केवल रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र में विजयी हुई, जहां पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष सुनील तटकरे ने शिवसेना (यूबीटी) के अपने प्रतिद्वंद्वी अनंत गीते को हराया।

राकांपा (एसपी) द्वारा जीती गई आठ सीटों में बारामती भी शामिल है, जहां शरद पवार की बेटी और मौजूदा सांसद सुप्रिया सुले और अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार के बीच रोमांचक मुकाबला हुआ। भाजपा ने 28 सीट पर चुनाव लड़ते हुए केवल नौ पर जीत हासिल की और पार्टी का स्ट्राइक रेट 31 प्रतिशत रहा।

Advertisement

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने 15 सीटों पर चुनाव लड़ा और सात सीट पर जीत हासिल की और उसका स्ट्राइक रेट 45 प्रतिशत रहा। उल्लेखनीय है कि सांगली निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार विशाल पाटिल ने जीत हासिल की है, जो कांग्रेसी हैं।

महाराष्ट्र की कुल 48 लोकसभा सीट में से शिवसेना (यूबीटी), राकांपा (शरदचंद्र पवार) और कांग्रेस के गठबंधन महा विकास आघाड़ी (एमवीए) ने 30 सीटें जीतीं, जबकि भाजपा, शिवसेना और अजित पवार के नेतृत्व वाली राकांपा की महायुति 17 सीटों पर सिमट गई।

Advertisement

ये भी पढ़ें- असदुद्दीन ओवैसी से हारने वाली माधवी लता ने कौरव और पांडवों के जरिए किस पर साधा निशाना?

Advertisement

Published June 5th, 2024 at 20:03 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

3 घंटे पहलेे
1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo