Advertisement

Updated April 4th, 2024 at 09:21 IST

'मेरे त्यागपत्र के बाद किया निष्कासन इतनी...', कांग्रेस पर संजय निरुपम का एक और हमला

संजय निरुपम ने कांग्रेस से किनारा कर लिया है। एक दिन पहले उन्हें निष्कासित किया गया था इसके बाद ही आज उनका इस्तीफा सामने आया। एक्स पर उन्होंने इसे साझा किया है।

Reported by: Kiran Rai
Sanjay Nirupam
संजय निरुपम | Image:PTI
Advertisement

Sanjay Nirupam Resigns: सोशल मीडिया में अपना त्यागपत्र साझा किया। जिसमें लिखा है कि उनके इस्तीफा देने के बाद ही पार्टी ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया। अपने लेडर हेड पर डेट 3 अप्रैल की डाली गई है। 

उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा है- ऐसा लगता है कि, कल रात पार्टी को मेरा त्यागपत्र मिलने के तुरंत बाद, उन्होंने मेरा निष्कासन जारी करने का निर्णय लिया। इतनी तत्परता देखकर अच्छा लगा. बस यह जानकारी साझा कर रहा हूं। मैं आज 11.30 से 12 बजे के बीच विस्तार से बयान दूंगा

Advertisement

एक दिन पहले निष्कासन

एक दिन पहले यानि 3 अप्रैल को ही संजय निरूपम को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया। संजय निरुपम ने कांग्रेस नेताओं पर टिकट को लेकर सवाल उठाए थे।  संजय निरुपम ने कांग्रेस को अल्टिमेटम दिया था। लेकिन उससे पहले कांग्रेस ने ही उन्हे पार्टी से निकाल दिया। संजय निरुपम ने कहा था कि कांग्रेस अपनी स्टेशनरी और ऊर्जा बेकार खर्च न करे। 

स्टार प्रचारकों की सूची से नाम हटाया

इससे पहले संजय पर एक्शन लेते हुए कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने मुंबई में पार्टी की प्रचार समिति की बैठक में भाग लेने के बाद संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस ने निरुपम का नाम स्टार प्रचारकों की सूची से हटा दिया था। कांग्रेस की मुंबई इकाई के पूर्व प्रमुख निरुपम ने कटाक्ष करते हुए कहा कि वित्तीय संकट का सामना कर रही पार्टी को अपनी ऊर्जा खर्च नहीं करनी चाहिए।

मुझ पर ऊर्जा न बर्बाद करे कांग्रेस- संजय निरूपम

निरुपम ने ‘एक्स’ पर कहा, ‘‘गंभीर वित्तीय संकट का सामना कर रही पार्टी मेरे लिए कागज-कलम और ऊर्जा बर्बाद ना करे। इसका इस्तेमाल पार्टी को बचाने के लिए होना चाहिए। मैंने पार्टी को जो समयसीमा दी थी वह आज खत्म हो रही है। मैं कल अपने अगले कदम के बारे में बताऊंगा।’’ प्रचार समिति की बैठक के बाद पटोले ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘पार्टी ने निरुपम का नाम स्टार प्रचारकों की सूची से हटा दिया है और पार्टी तथा प्रदेश इकाई नेतृत्व के खिलाफ बयानों के लिए उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की गई है। एक या दो दिन में निर्णय लिया जाएगा।’’

उत्तर-पश्चिम सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे निरुपम

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना (यूबीटी) द्वारा मुंबई की छह लोकसभा सीट में से मुंबई उत्तर-पश्चिम सीट समेत चार के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा के बाद निरुपम ने कांग्रेस के प्रदेश नेतृत्व पर निशाना साधा था। बताया जाता है कि निरुपम उत्तर-पश्चिम सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं।

मुंबई उत्तर से सांसद रह चुके निरुपम ने कहा था कि कांग्रेस नेतृत्व को शिवसेना (यूबीटी) के आगे दबाव में झुकना नहीं चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि मुंबई में एकतरफा उम्मीदवार उतारने के शिवसेना (यूबीटी) के फैसले को स्वीकार करना कांग्रेस को बर्बाद करने की अनुमति देने के समान है। निरुपम एक समय शिवसेना में भी रह चुके हैं। उन्होंने 2005 में शिवसेना छोड़ दी थी। उन्होंने उत्तर भारतीय फेरीवालों का मुद्दा उठाया और बाद में कांग्रेस में शामिल हुए। वर्ष 2009 में, उन्होंने मुंबई उत्तर सीट से चुनाव में जीत हासिल की।

Advertisement

ये भी पढ़ें- 'कांग्रेस खत्म हो जाएगी...', संजय निरुपम ने कर दी भविष्यवाणी, पार्टी के इस कदम को बताया शर्मनाक

Advertisement

Published April 4th, 2024 at 09:08 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo