Advertisement

Updated April 4th, 2024 at 14:46 IST

सपा ने मेरठ में फिर किया खेल, अतुल प्रधान का कटा टिकट और पूर्व मेयर सुनीता वर्मा बनी प्रत्याशी

समाजवादी पार्टी ने एक बार फिर से मेरठ सीट पर अपना प्रत्याशी बदल दिया है। दरअसल, अतुल प्रधान का टिकट काटकर सपा ने सुनीता वर्मा को टिकट दे दिया है।

Reported by: Kanak Kumari
Atul Pradhan
अतुल प्रधान | Image:@atulpradhansp
Advertisement

समाजवादी पार्टी लगातार अपने प्रत्याशी बदल रही है। आगरा के बाद मेरठ में प्रत्याशी बदले गए। अब एक बार फिर से सपा ने मेरठ में प्रत्याशी बदला है। दरअसल, सपा ने अचानक से अपने उम्मीदवार अतुल प्रधान का मेरठ से टिकट काटकर पूर्व मेयर सुनीता वर्मा को उम्मीदवार बना दिया है।

मेरठ से टिकट कटने पर सपा नेता अतुल प्रधान ने कहा, “पार्टी ने जो फैसला लिया है हम उसके साथ खड़े हैं। भाजपा की तरफ से जो उम्मीदवार हैं वह लोकल नहीं है, इसलिए उनका ज्यादा प्रभाव नहीं है।”

Advertisement

राजनीतिक गलियारों में चर्चा ये भी हो रही थी कि बीजेपी की वजह से सपा बार-बार अपने उम्मीदवार बदल रही है। इसे लेकर उन्होंने कहा, “BJP की वजह से टिकट नहीं बदला गया है। पार्टी की कोई रणनीति होगी, जिसकी वजह से टिकट बदल गया।” वहीं लगातार टिकट बदले जाने पर अतुल प्रधान ने कहा कि इसके बारे में पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव फैसला ले रहे हैं, इस पर कुछ कहना उचित नहीं है।

पहले भानु प्रताप सिंह को घोषित किया था प्रत्याशी

मेरठ से पहले अखिलेश ने भानु प्रताप को उम्मीदवार घोषित किया था। हालांकि, भानू प्रताप के नाम पर पार्टी के स्थानीय नेताओं ने नाराजगी जाहिर की थी। इसके बाद अखिलेश यादव ने मेरठ सीट पर सरधना से विधायक अतुल प्रधान को प्रत्याशी घोषित कर दिया। अतुल प्रधान का ऐलान होते ही पार्टी में बगावत छिड़ गई। मेरठ शहर विधायक रफीक अंसारी ने मेरठ सीट पर दावा ठोक दिया। फिर बाद में अखिलेश यादव ने पूर्व मेयर सुनीता वर्मा को प्रत्याशी बनाया है।

खजुराहो में भी बदले प्रत्याशी

सपा ने खजुराहो लोकसभा सीट से अपने उम्मीदवार मनोज यादव को सोमवार को पूर्व विधायक मीरा दीप नारायण यादव से बदल दिया। खजुराहो सीट पर मीरा यादव का मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)की मध्य प्रदेश इकाई के प्रमुख एवं मौजूदा सांसद वी डी शर्मा से होगा। इस सीट पर मतदान 26 अप्रैल को होगा। कांग्रेस ने सपा के साथ सीट बंटवारा समझौते के तहत राज्य में अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली सपा को एकमात्र सीट आवंटित की थी।

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में 16 फीट गहरे बोरवेल में गिरे बच्चे का हुआ रेस्क्यू, घंटों की कोशिशों के बाद मिली सफलता

Advertisement

Published April 4th, 2024 at 11:58 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

2 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo