Advertisement

Updated April 1st, 2024 at 13:43 IST

लोकसभा चुनाव से पहले RLD को बड़ा झटका, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शाहिद सिद्दीकी ने दिया इस्तीफा

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय लोक दल को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शाहिद सिद्दीकी ने इस्तीफा दे दिया है।

Reported by: Kanak Kumari
jayant chaudhary meerut rally
जयंत चौधरी | Image:x/rld
Advertisement

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय लोक दल को बड़ा झटका लगा है। रालोद में सब कुछ ठीक नजर नहीं आ रहा है। दरअसल, रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शाहिद सिद्दीकी ने पार्टी के प्रमुख जयंत चौधरी को इस्तीफा दे दिया है। बता दें, सिद्दकी रालोद के वरिष्ठा नेताओं में से एक है। पार्टी में उनका कद बड़ा था। ऐसे में माना जा रहा है कि RLD के लिए ये एक बड़ा नुकसान है। 

सिद्दीकी ने जयंत चौधरी को जो इस्तीफा भेजा है, उसमें पूर्व सांसद ने लिखा है कि देश में लोकतंत्र के ढांचे को गिरते हुए खामोशी से नहीं देख सकता। बता दें, आरएलडी के बीजेपी के साथ गठबंधन को लेकर सिद्दीकी विरोध में थे। जयंत चौधरी ने उन्हें किनारे लगा दिया था लिहाजा सिद्दीकी ने आज इस्तीफा दे दिया।

Advertisement

NDA में शामिल होने के बाद सिद्दिकी का आया इस्तीफा

सिद्दीकी ने यह कदम तब उठाया है जब रालोद कुछ दिन पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल चुकी है। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक पोस्ट में कहा, "कल, मैंने राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) की सदस्यता और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत सिंह को भेज दिया। आज, जब भारत का संविधान और लोकतांत्रिक ढांचा खतरे में है तो ऐसे में खामोश रहना एक पाप है।"

Advertisement

इस वजह से तुरंत इस्तीफा नहीं देना चाहते थे सिद्दीकी

उन्होंने कहा कि मैं जयंत जी का आभारी हूं लेकिन मैं भारी मन से रालोद से दूरी बनाने के लिए मजबूर हूं। भारत की एकता, अखंडता, विकास और भाईचारा सभी को प्रिय है। इसे बचाना प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी और धर्म है। सिद्दीकी ने एक अन्य पोस्ट में अब इस्तीफा देने को लेकर कहा कि वह तुंरत इस्तीफा नहीं देना चाहते थे क्योंकि वह चौधरी चरण सिंह जी को सम्मानित किए गए भारत रत्न का स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा, “मैं नहीं चाहता था कि मैं इसका विरोध करते हुए दिखूं। दूसरा, जब चुनाव की घोषणा हो गयी है तो निर्वाचित मुख्यमंत्रियों और विपक्षी दलों पर हमला भारतीय लोकतंत्र तथा हमारे द्वारा बनाए महान संस्थानों पर हमला है।" रालोद ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में दो सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है।

Advertisement

इसे भी पढ़ें: पप्पू यादव ने बढ़ाई कांग्रेस और राजद की टेंशन! 4 अप्रैल को पूर्णिया सीट से नामांकन भरने का किया ऐलान

Advertisement

Published April 1st, 2024 at 08:50 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo