Advertisement

Updated April 3rd, 2024 at 16:15 IST

निर्दलीय सांसद सुमलता अम्बरीश ने भाजपा में शामिल होने की घोषणा की

निवर्तमान लोकसभा में मांड्या से निर्दलीय सांसद सुमलता अम्बरीश ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने की घोषणा की।

Edited by: Rupam Kumari
Sumalatha Ambareesh
Sumalatha Ambareesh | Image:PTI
Advertisement

निवर्तमान लोकसभा में मांड्या से निर्दलीय सांसद सुमलता अम्बरीश ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने की घोषणा की। इसी के साथ आगामी लोकसभा चुनाव में मांड्या से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के मौजूदा प्रत्याशी और जनता दल (सेक्यूलर) नेता एच डी कुमारस्वामी को उनका समर्थन प्राप्त हो गया है।

अभिनय जगत से राजनीति में आईं 60 वर्षीय सुमलता ने अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मैं मांड्या नहीं छोड़ूंगी और आप आने वाले दिनों में मुझे यहां काम करते हुए देखेंगे। मैंने भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है।’’ सुमलता ने 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के समर्थन से मांड्या सीट पर कुमारस्वामी के बेटे निखिल को हराया था। पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा की अध्यक्षता वाली जद (एस) पिछले साल सितंबर में राजग में शामिल हुई थी।

Advertisement

कर्नाटक में सीट बंटवारा समझौते के तहत भाजपा अब राज्य में 25 सीट पर चुनाव लड़ेगी जबकि जद(एस) मांड्या सहित शेष तीन सीट पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। सुमलता ने कहा कि वह निर्दलीय सांसद थीं, इसके बावजूद केंद्र की भाजपा सरकार ने मांड्या निर्वाचन क्षेत्र को चार हजार करोड़ रुपये का अनुदान दिया।

सुमलता ने मांड्या से संबंधित कोई भी निर्णय लेने से पहले हमेशा उन्हें विश्वास में लेने के लिए भाजपा नेताओं की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘‘जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुझसे कहा कि भाजपा को मेरी जरूरत है और मुझसे पार्टी न छोड़ने का अनुरोध किया, तो मुझे उनका सम्मान करना ही था।’’

Advertisement

सुमलता के मुताबिक भाजपा ने उन्हें किसी और सीट से चुनाव लड़ने की पेशकश की लेकिन उन्होंने प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया क्योंकि वह मांड्या की बहू होने के नाते इस जिले से जुड़े रहना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि उनके समर्थक चाहते थे कि वह कांग्रेस में शामिल हो जाएं। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी को उनकी जरूरत महसूस नहीं हुई, न तो पहले, न अभी और न ही भविष्य में। ऐसे में एक स्वाभिमानी व्यक्ति इन शब्दों को सुन कैसे कांग्रेस में जा सकता है।’’ सुमालता ने अपने भावुक भाषण में मांड्या के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के बारे में बताया क्योंकि उनके पति स्वर्गीय अंबरीश इसी जिले से थे।

यह भी पढ़ें:  बॉक्सर विजेंदर सिंह ने थामा BJP का दामन, कांग्रेस को एक और बड़ा झटका

Advertisement

 

Advertisement

Published April 3rd, 2024 at 16:15 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo