Advertisement

Updated June 5th, 2024 at 17:54 IST

फडणवीस ने की इस्तीफे की पेशकश, मंत्री गिरीश महाजन बोले-‘साथ काम करेंगे, समस्या का सवाल ही नहीं...'

देवेंद्र फडणवीस ने लोकसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन न कर पाने की जिम्मेदारी ली, मंत्री गिरीश महाजन बोले- ‘साथ काम करते रहेंगे, समस्या का सवाल ही नहीं उठता…

Reported by: Nidhi Mudgill
Devendra Fadnavis / Girish Mahajan
देवेंद्र फडणवीस / गिरीश महाजन | Image:ANI
Advertisement

Maharashtra Lok Sabha Election Result : महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने लोकसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन न कर पाने की जिम्मेदारी ली है। साथ ही इस्तीफे की पेशकश भी की है, उन्होंने कहा कि, हमें महाविकास अघाड़ी की तीन पार्टियों के अलावा एक नैरेटिव से भी लड़ना पड़ा। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मैं नेतृत्व से मांग करूंगा कि मुझे सरकार के कामकाज से मुक्त कर दिया जाए। इस बयान को लेकर महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन का भी बयान आया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि देवेंद्र फडणवीस संगठन के साथ भी काम करेंगे,किसी तरह की समस्या का सवाल ही नहीं उठता। 

उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के बयान पर राज्य के मंत्री गिरीश महाजन ने कहा, ‘उन्होंने सिर्फ महाराष्ट्र में सीटें कम होने की जिम्मेदारी ली, कोई अन्य चर्चा नहीं की गई। वह सरकार में बने रहेंगे और संगठन के साथ भी काम करेंगे। हमारे पास 200 से ज्यादा विधायक हैं, उनके इस्तीफे या सरकार में किसी तरह की समस्या का सवाल ही नहीं उठता।’ 

Advertisement

जनता के बीच जाएंगे, नए सिरे से काम करेंगे- फडणवीस 

बता दें महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने यहा भी कहा कि, ‘मैं भागने वाला आदमी नहीं हूं। इस हार की जिम्मेदारी लेता हूं। जनता के बीच जाएंगे और नए सिरे से काम करेंगे।' फडणवीस ने कहा कि मैं चाहता हूं कि बीजेपी के संगठन को मजबूत करने में लग जाऊं।’

यह भी पढ़ें : तिहाड़ में कटेंगी CM केजरीवाल की रातें, 14 दिन तक न्यायिक हिरासत

बीजेपी नेताओं संग हुई थी मीटिंग

 देवेंद्र फडणवीस ने बीजेपी की महाराष्ट्र इकाई की मीटिंग के बाद यह बात कही। बुधवार को ही बीजेपी नेताओं की मीटिंग हुई थी, जिसमें लोकसभा चुनाव में आए नतीजों पर मंथन किया गया। मीटिंग में विस्तार से कम सीटें हासिल करने को लेकर उनके कारणों पर चर्चा की गई। इस बार राज्य में बीजेपी और उसके सहयोगी दलों ने मिलकर 17 सीटें जीती हैं। 48 सीटों वाले राज्य से यह आंकड़ा काफी कम है। वहीं उद्धव ठाकरे की शिवसेना, शरद पवार की एनसीपी और कांग्रेस का अच्छा प्रदर्शन रहा है। तीनों दलों ने मिलकर 30 सीटों पर जीत हासिल की है। 

यह भी पढ़ें : सब साथ हैं, उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी का आया बड़ा बयान, बोले- ‘नीतीश कुमार बिहार के सबसे बड़े…’

Advertisement

Published June 5th, 2024 at 17:38 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo