Advertisement

Updated May 29th, 2024 at 20:41 IST

PM मोदी के कन्याकुमारी में 'ध्यान' से पहले CM ममता का बड़ा बयान, कहा- टेलीविजन प्रसारण होगा तो...

West Bengal News: PM मोदी के कन्याकुमारी में 'ध्यान' से पहले बंगाल CM ममता बनर्जी ने बड़ा बयान दे दिया है।

PM Modi vs Mamata in North Bengal
PM Modi vs Mamata | Image:Republic
Advertisement

West Bengal News: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि यदि कन्याकुमारी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ध्यान का टेलीविजन पर प्रसारण किया जाता है तो उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस निर्वाचन आयोग से शिकायत करेगी। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा करना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन होगा।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं के अनुसार 30 मई को लोकसभा चुनाव का प्रचार अभियान समाप्त हो जाने के बाद प्रधानमंत्री मोदी कन्याकुमारी के विवेकानंद रॉक मेमोरियल में ‘ध्यान’ करेंगे। यह मेमोरियल स्वामी विवेकानंद के प्रति श्रद्धांजलि के तौर पर बनाया गया है।

Advertisement

बनर्जी ने कहा, ‘‘हम शिकायत करेंगे। वह ध्यान लगा सकते हैं, लेकिन टेलीविजन उसे नहीं दिखा सकते हैं।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि यह ‘आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन’ होगा।

ममता का आरोप- 'प्रचार करने का एक तरीका'

उन्होंने सवाल किया, ‘‘क्या किसी को ध्यान लगाने के लिए कैमरे की जरूरत होती है?’’ मुख्यमंत्री ने दावा किया कि यह चुनाव प्रचार के समापन तथा चुनाव की तारीख के बीच के ‘मौन काल’ (साइलेंस पीरियड) के दौरान प्रचार करने का एक तरीका है।

भाजपा नेताओं के अनुसार मोदी ध्यान मंडपम में 30 मई की शाम से एक जून शाम तक ध्यान लगायेंगे, ध्यान मंडपम ऐसा स्थल है, जिसके बारे में माना जाता है कि यहीं विवेकानंद को ‘भारत माता’ के बारे में दिव्य दृष्टि प्राप्त हुई थी। मोदी आध्यात्मिक महापुरुष विवेकानंद के बहुत बड़े प्रशंसक हैं।

Advertisement

2019 में भी ध्यान पर बैठे थे PM मोदी

जिस मैदान में मोदी ने यादवपुर संसदीय क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में मंगलवार को एक चुनावी सभा को संबोधित किया था, उसी मैदान में तृणमूल सुप्रीमो ने दावा किया कि हर चुनाव में जब अंतिम चरण का मतदान होना होता है, तब वह (मोदी) उसके 48 घंटे पहले ध्यान पर चले जाते हैं।

Advertisement

प्रधानमंत्री 2019 के प्रचार अभियान के बाद भी केदारनाथ की एक गुफा में इसी प्रकार ध्यान पर बैठ गये थे। बनर्जी ने केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा पर सरकारी कंपनियों में हिस्सेदारी बेचने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘यदि वे (भाजपा वाले) इस बार सत्ता में आ गये तो कोई राजनीतिक पार्टी, चुनाव, स्वतंत्रता, धर्म, मानवता या संस्कृति नहीं होगी (बचेगी)।’’

तृणमूल सुप्रीमो ने मोदी के इस बयान को खारिज करने की कोशिश की कि भाजपा बंगाल में सबसे अच्छा परिणाम हासिल करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘इसका मतलब है कि वे (चुनाव) हार गये हैं, उन्हें बंगाल में रसगुल्ला (शून्य) मिलेगा।’’

Advertisement

उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस केंद्र में सरकार गठन में ‘इंडिया’ गठबंधन को अपना ‘समर्थन’ देगी, लेकिन उन्होंने बंगाल में लोगों से मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी या कांग्रेस को वोट नहीं देने की भी अपील की।

पश्चिम बंगाल में सातवें चरण में नौ लोकसभा सीट पर होने वाले मतदान से पहले बरूईपुर में चुनाव प्रचार के दैरान बनर्जी ने कहा, ‘‘इससे (माकपा या कांग्रेस को वोट देने से) भाजपा को मदद मिलेगी।’’ पश्चिम बंगाल में लोकसभा की 42 सीट हैं।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘यदि मैं कांग्रेस से बाहर आकर तृणमूल कांग्रेस नहीं बनाई होती तो आज भी हम बंगाल में माकपा को हरा नहीं पाते।’’ उन्होंने कहा कि बंगाल से माकपा की सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए वह 34 सालों तक उसके खिलाफ लड़ती रहीं। उन्होंने कहा, ‘‘यदि हम वह हासिल कर पाये तो हम भाजपा को भी हरा सकते हैं और हम ऐसा करके रहेंगे।’’

ये भी पढ़ेंः कसम से... ऐसी गर्मी 100 साल में नहीं देखी, झुलस रहा इंसान तो गाजियाबाद में फूंक गई मशीन, VIDEO

Advertisement

(Note: इस भाषा कॉपी में हेडलाइन के अलावा कोई बदलाव नहीं किया गया है)

Published May 29th, 2024 at 20:41 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo