Advertisement

Updated April 2nd, 2024 at 16:01 IST

चिराग पासवान का एक बार फिर छलका दर्द, कहा- ‘मेरी पार्टी को मेरे अपनों ने तोड़ा’

Chirag Paswan ने कहा कि मेरी पार्टी को मेरे अपनों ने तोड़ा है। लड़ते संघर्ष करते और संयम करते हुए हम यहां तक आए हैं।

Reported by: Nidhi Mudgill
Chirag Paswan
चिराग पासवान | Image:PTI
Advertisement

Chirag Paswan News: लोकसभा चुनाव 2024 की सरगर्मी तेज हो चुकी है। वहीं, बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि मेरी पार्टी को मेरे अपनों ने तोड़ा है। चिराग पासवान ने कहा कि लड़ते संघर्ष करते और संयम करते हुए हम यहां तक आए हैं। गठबंधन ने भी इस बात का सम्मान किया है कि हम लोग काम करते रहे है। 

चिराग पासवान ने कहा कि, ‘मेरे परिवार के बड़े ही फैसला करते हैं और अलग होने का निर्णय भी उनका था, अब उनसे पूछा जाता है तो वो नेभर नेभर बोलते हैं। ऐसे में मैं क्या करूं, मैंने शुरुआत में भी कोशिश की, मैं बीमारी में करीब डेढ़ घंटे तक अपने घर के दरवाजे पर खड़ा रहा है। अंदर जब गया तो चाची ने मेरे पैर छूने पर पैर पीछे खीचें और कहा कि जो हो रहा है, वो सही है। मैं तो चाचा नहीं मझले पापा बोलता था।

Advertisement

40 की 40 सीटें जीतना लक्ष्य- चिराग पासवान

चिराग पासवान ने कहा कि मैं हाजीपुर सीट पर अडिग हूं। मेरे लिए मोदी जी का फिर से प्रधानमंत्री बनना सबसे महत्वपूर्ण है। इसमें गठबंधन के 2 दल आपस में मतभेद रखें ये सही नहीं है। हमारा 40 की 40 सीटें जीतने का लक्ष्य है। बता दें लोकसभा चुनाव 2024 के लिए लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) ने बिहार में अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया है। बिहार में सीट बंटवारे के बाद मिली सभी पांचों सीटों पर पार्टी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। 

Advertisement

मैं बिहार फर्स्ट पर काम करता हूं- पासवान

चिराग पासवान ने कहा कि, मैं बिहार फर्स्ट पर काम करता हूं। मोदी की गांरटी पर देश के साथ दुनिया विश्वास करती है। बिहार में हमेशा विरोधभास की सरकार रहती है, लेकिन डबल इंजन की सरकार से बल मिलता है यह हमने यूपी में देखा है।

Advertisement

यह भी पढ़ें : तिहाड़ जेल से कैसे सरकार चलाएंगे अरविंद केजरीवाल?

मैं जातपात पर भरोसा नहीं करता- चिराग पासवान

चिराग पासवान ने कहा कि, मैं जातपात पर भरोसा नहीं करता, न ही मैं इनस्कोयर नेताओं में से हूं। जो डरते हैं कि मेरे समकक्ष नेता मुझसे आगे बढ़ जाऐगें। मैनें पढ़े लिखे लोगों को मौका दिया। पार्टी ने पांच में से 2 सीटें महिलाओं को दी है। 

यह भी पढ़ें : मुख्तार अंसारी की मौत का कौन लेना चाहता है हिसाब? जेल अधीक्षक को धमकी

Advertisement

Published April 2nd, 2024 at 11:14 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo