Advertisement

Updated April 3rd, 2024 at 19:38 IST

पुरुषोत्तम रुपाला की उम्मीदवारी वापस ले भाजपा, वरना राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन करेंगे: राजपूत नेता

केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला की कथित अपमानजक टिप्पणी को लेकर उपजा विवाद बढ़ता जा रहा है।

Edited by: Deepak Gupta
Purushottam Rupala
Purushottam Rupala | Image:X- @PRupala
Advertisement

केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला की कथित अपमानजक टिप्पणी को लेकर उपजा विवाद बढ़ता जा रहा है और बुधवार को राजपूत नेताओं ने समझौते की भाजपा की कोशिशों को खारिज कर दिया और राजकोट संसदीय सीट से उनकी उम्मीदवारी वापस न लिए जाने पर पार्टी के खिलाफ राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन शुरू करने की चेतावनी दी।

सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और क्षत्रिय (राजपूत) नेताओं के बीच हुई एक महत्वपूर्ण बैठक बेनतीजा रही और समुदाय के प्रतिनिधि अपनी मांग पर अड़े रहे। बैठक में शामिल होने के बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता भूपेंद्रसिंह चूड़ासमा ने कहा, “भले ही रुपाला कम से कम चार बार माफी मांग चुके हैं, लेकिन समुदाय के नेताओं ने कहा है कि उनकी एकमात्र मांग उम्मीदवारी वापस लेने की है।”

Advertisement

राजकोट लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार रुपाला ने यह दावा करके विवाद खड़ा कर दिया था कि तत्कालीन महाराजाओं ने विदेशी शासकों और अंग्रेजों के आगे घुटने टेक दिए थे और यहां तक कि अपनी बेटियों की शादी भी उनसे करा दी थी। गुजरात में क्षत्रिय समुदाय ने रुपाला की टिप्पणियों पर कड़ी आपत्ति जताई क्योंकि तत्कालीन राजघरानों में अधिकांश राजपूत थे।

चूडासमा ने कहा, "सभी राजपूत नेताओं ने हमें बताया कि वे राजकोट सीट से रुपाला को हटाने से कम किसी भी बात पर सहमत नहीं होंगे। हालांकि हमने उनसे अपनी मांग पर पुनर्विचार करने और रुपाला को माफ करने का आग्रह किया है। वह पहले ही माफी मांग चुके हैं, लेकिन समुदाय के नेताओं ने एक सुर में हमारे अनुरोध को खारिज कर दिया। वे क्षमा के हमारे अनुरोध को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हुए।”

Advertisement

उन्होंने कहा कि भाजपा इस संबंध में फैसला लेगी। बैठक में भाजपा प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व चूडासमा ने किया और इसमें पार्टी के क्षत्रिय नेता बलवंतसिंह राजपूत, हकुभा जाडेजा, प्रदीपसिंह जाडेजा, जयद्रथसिंह परमार, केसरीदेवसिंह झाला और आईके जाडेजा ने हिस्सा लिया।

राजपूत समन्वय समिति के संयोजक करणसिंह चावड़ा ने रुपाला की उम्मीदवारी वापस नहीं लिए जाने पर लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी।

Advertisement

चावड़ा ने पत्रकारों से कहा, "हमारी केवल एक ही मांग है - राजकोट लोकसभा सीट से रुपाला की उम्मीदवारी वापस ली जाए। हमने भाजपा नेताओं को स्पष्ट रूप से कहा है कि राजपूत समुदाय इसके अलावा किसी अन्य बात पर सहमत नहीं होगा। अब भाजपा नेतृत्व को यह तय करना है कि रुपाला उन्हें प्रिय हैं या गुजरात के 75 लाख राजपूतों समेत देश में रहने वाले 22 करोड़ राजपूत।”

इसे भी पढ़ें : दुल्हन बन खूब नाचीं तापसी पन्नू, लीक हुआ शादी का पहला VIDEO

Advertisement

Published April 3rd, 2024 at 19:38 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
2 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo