Advertisement

Updated June 5th, 2024 at 21:26 IST

पांच बार के मुख्यमंत्री पटनायक को हराने वाले लक्ष्मण बाग ने जनता का आभार जताया

वर्ष 1998 में अस्का के सांसद के रूप में सार्वजनिक जीवन में प्रवेश करने के बाद यह नवीन पटनायक की पहली चुनावी हार है।

Odisha CM Navin Patnaik
नवीन पटनायक | Image:X- Naveen Patnaik
Advertisement

ओडिशा में पांच बार के मुख्यमंत्री एवं बीजद प्रमुख नवीन पटनायक को बोलांगीर जिले की कांटाबांजी विधानसभा सीट से हराने वाले भाजपा नेता लक्ष्मण बाग रातोंरात राज्य में एक जाना-पहचाना नाम बन गए।

बाग (48) ने कांटाबांजी सीट पर 16,344 वोटों से जीत दर्ज की, जो पांच बार मुख्यमंत्री रहे पटनायक के लिए बड़ा झटका है। पटनायक ने दो सीटों से चुनाव लड़ा था और वह हिंजिली सीट पर 4,636 वोटों से जीते।

Advertisement

चुनावों में नवीन पटनायक की पहली हार

वर्ष 1998 में अस्का के सांसद के रूप में सार्वजनिक जीवन में प्रवेश करने के बाद यह नवीन पटनायक की पहली चुनावी हार है।

Advertisement

लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरने की कोशिश करूंगा- बाग

बाग ने जीत के बाद कहा, ‘‘मैं कांटाबांजी के लोगों को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने नवीन पटनायक के बजाय मुझे तरजीह दी। मैं लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरने की कोशिश करूंगा।’’

Advertisement

उन्होंने कहा, ‘‘भले ही वह मुख्यमंत्री थे, लेकिन मुझे जनता पर पूरा भरोसा था। मैंने जीतने के लिए पूरी लगन से लड़ाई लड़ी और सफलता मिली।’’

सबसे बड़ा मुद्दा क्षेत्र में रोजगार की कमी- बाग

Advertisement

बाग ने कहा कि उनके लिए सबसे बड़ा मुद्दा क्षेत्र में रोजगार की कमी है, जिसके कारण लोग अन्यत्र पलायन करने को मजबूर हैं। अपने चुनावी हलफनामे में बाग ने बताया है कि वह दसवीं पास हैं। उन्होंने खुद को किसान बताया है। उनके खिलाफ 12 आपराधिक मामले दर्ज हैं।

इसे भी पढ़ें: खटाखट-खटाखट वाले आश्वासन पर कांग्रेस ऑफिस में 8500 लेने को उमड़ी भीड़

Advertisement

Published June 5th, 2024 at 21:26 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

1 दिन पहलेे
1 दिन पहलेे
3 दिन पहलेे
6 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo